Share
दिव्यांग पेंशन के फर्जी खातों में धनराशि भुगतान का मामला आया सामने

दिव्यांग पेंशन के फर्जी खातों में धनराशि भुगतान का मामला आया सामने

देहरादून: देहरादून में दिव्यांग पेंशन के फर्जी 1927 खातों में करोड़ों रुपये के भुगतान मामले में विभाग की नींद टूट गई है। समाज कल्याण निदेशक मेजर योगेंद्र यादव की ओर से फर्जी भुगतान की वसूली के निर्देश जारी किए जा चुके हैं। इसके बाद भुगतान की वसूली भी शुरू हो गई है। हालांकि, दोषी अधिकारियों पर भी गाज गिरेगी, इस पर अभी कुछ भी कहा नहीं जा सकता।

दरअसल, अगस्त 2017 में सहकारिता सहायक विकास अधिकारी (कालसी) प्रेम कुमार की ओर से आरटीआइ में मांगी गई सूचना में 1927 दिव्यांग पेंशन के फर्जी खातों में धनराशि भुगतान का मामला उजागर हुआ था। इन लाभार्थियों को दो से तीन बार भुगतान किया गया था। इस पर तत्कालीन अपर सचिव समाज कल्याण मनोज चंद्रन ने सितंबर 2017 को अधिकारियों से रिपोर्ट तलब की थी।

संबंधित मामले में जिला समाज कल्याण अधिकारी देहरादून ने अपर सचिव को रिपोर्ट भेजी थी, जिसमें उक्त प्रकरण में किसी तरह की अनियमितता होने से इंकार किया गया था। तत्कालीन अपर सचिव मनोज चंद्रन ने विभागीय रिपोर्ट को अपूर्ण एवं भ्रामक ठहराते हुए प्रकरण की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमीशन गठित किया था। कमीशन की जांच में भी सभी पेंशनों पर फर्जी भुगतान की पुष्टि हुई थी।

समाज कल्याण विभाग के निदेशक मेजर योगेंद्र यादव ने देहरादून जनपद में दिव्यांग पेंशनों में फर्जी आवंटन की समस्त धनराशि वसूलने के निर्देश दिए गए हैं। इनमें 50 लाख रुपये से अधिक राशि वसूली गई है।

Leave a Comment