Share
कश्मीर में सात आतंकी हमले

कश्मीर में सात आतंकी हमले

श्रीनगर। सुरक्षाबलों के लगातार बढ़ते दबाव और अपने कई साथियों के मारे जाने से हताश आतंकियों ने मंगलवार को घाटी में चार घंटे के भीतर ताबड़तोड़ सात हमले किए। हर जगह सुरक्षाबलों को निशाना बनाकर किए गए हमलों में सीआरपीएफ के नौ और पुलिस के चार जवान घायल हो गए। इन हमलों के बाद सुरक्षा एजेंसियों ने वादी में अलर्ट करते हुए सभी सुरक्षा शिविरों और थानों के अलावा जम्मू-श्रीनगर राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुरक्षा कड़ी कर दी है। आतंकियों को मार गिराने के लिए देर रात कई जगह एक साथ विशेष अभियान छेड़ दिया गया। इस बीच हिजबुल मुजाहिदीन ने हमलों की जिम्मेदारी लेते हुए और हमलों की धमकी भी दी है।

आतंकियों ने छह जगहों पर सुरक्षाबलों पर ग्रेनेड फेंके, जबकि अनंतनाग में पूर्व जज के मकान पर तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हमला कर चार राइफलें लूट लीं। इससे पहले सोमवार रात भी त्राल में आतंकियों ने सीआरपीएफ के शिविर पर ग्रेनेड दागा था, जिसमें दो जवान जख्मी हो गए थे।

पहला हमला : शाम 6:00 बजे

दक्षिण कश्मीर के जिला पुलवामा के त्राल में आतंकियों ने लाडीयार गांव में सीआरपीएफ की 180वीं वाहिनी की एफ कंपनी के शिविर पर ग्रेनेड दागा, जिसमें नौ जवान जख्मी हो गए। घायलों को श्रीनगर स्थित सेना के बेस अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां चार की हालत गंभीर बताई जा रही है।

दूसरा हमला : 8:00 बजे

आतंकियों ने पडगामपोरा (पुलवामा) में सीआरपीएफ की 130वीं वाहिनी के शिविर पर ग्रेनेड हमला किया, जिसमें कोई नुकसान नहीं हुआ।

 तीसरा हमला : 8:30 बजे

आतंकियों ने पुलवामा पुलिस स्टेशन पर ग्रेनेड दागा, जो थाने की बाहरी दीवार के साथ टकराकर फटा। इस हमले में दो पुलिसकर्मी घायल हो गए।

 चौथा हमला : 9:00 बजे

दक्षिण कश्मीर के जिला अनंतनाग के सरनल (पहलगाम) में भी आतंकियों ने सीआरपीएफ के शिविर पर ग्रेनेड हमला किया। इस हमले में कोई नुकसान नहीं हुआ।

 पांचवां हमला : 9:15 बजे

आतंकियों ने दक्षिण कश्मीर के आंचीडूरा (अनंतनाग) में जम्मू-कश्मीर उच्च न्यायालय के पूर्व न्यायाधीश मुजफ्फर हुसैन अत्तर के मकान पर तैनात सुरक्षाकर्मियों पर हमला किया। इसमें दो पुलिसकर्मी घायल हो गए। आतंकी जाते समय पुलिसकर्मियों की चार राइफलें भी लूट ले गए। हमले के समय मुजफ्फर हुसैन मकान में मौजूद नहीं थे। हमलावर आतंकियों की संख्या सात से आठ बताई जा रही है। सूत्रों के अनुसार वहां तैनात चार में से दो सुरक्षाकर्मी मौजूद नहीं थे। उन दोनों को निलंबित कर दिया गया है।

छठा हमला : 9:30 बजे

उत्तरी कश्मीर के पजलपोरा (सोपोर) स्थित सेना की 22 आरआर के शिविर पर आतंकियों ने स्वचालित हथियारों से फायरिंग की। गेट पर तैनात जवानों ने त्वरित जवाबी कार्रवाई कर आतंकियों के मंसूबों को नाकाम बना दिया। जवाबी फायरिंग होते ही आतंकी अंधेरे में भाग निकले। उत्तरी कश्मीर के डीआइजी नीतीश कुमार ने कहा कि आतंकियों ने यहां यूबीजीएल से ग्रेनेड हमला किया।

सातवां हमला : 10:00 बजे

त्राल के लुरगाम क्षेत्र में आतंकियों ने सेना की 42 आरआर के शिविर पर यूबीएल से ग्रेनेड हमला किया, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ। क्षेत्र में आतंकियों की तलाश की जा रही है।

 हमले के मिले थे इनपुट

पुलिस अधिकारियों ने कहा कि उन्हें इनपुट मिले थे कि आतंकी कश्मीर में कोई बड़ा हमला कर सकते हैं, लेकिन सुरक्षाबलों की कड़ी सुरक्षा व घेराबंदी का ही नतीजा है कि आतंकी अपने नापाक मंसूबे में कामयाब नहीं हुए और उन्होंने कई जगह सांकेतिक हमले कर हताशा का परिचय दिया।

Leave a Comment