Share
कोटद्वार में बादल फटा, चार की मौत

कोटद्वार में बादल फटा, चार की मौत

देहरादून। उत्तराखंड में जोरदार बारिश के चलते लोगों में मुसीबत का पहाड़ भी टूटता जा रहा है। पौड़ी जिले में कोटद्वार के पनियाला गदेरे (बरसाती नाला) में बादल फटने से कई गांवों में मलबा घुस गया। मलबे में चार लोगों की मौत हो गई। सारा इलाका जलमग्न हो गया। एसडीआरएफ की टीम मौके पर रेस्क्यू कर रही है।

रिफ्यूजी कालोनी में पनियाला नाले के उफान में लक्ष्य अरोड़ा पुत्र सीपी अरोड़ा और ज्योति अरोड़ा पत्नी दर्शन की पानी में बहने से मौत हो गई। वहीं, मानपुर गांव में सुरक्षा दीवार ढहने से इसके मलबे में दबकर शांति देवी पत्नी राई सिंह व अजीत कुमार पुत्र बालक राम की मौत हो गई।

यही नहीं, रिफ्यूजी कालोनी में जलभराव के दौरान शार्ट सर्किट से एक मकान में आग लग गई। इस दौरान रसोई गैस सिलेंडर भी फट गया। हादसे में हरेंद्र भाटिया (48) पुत्र ओमप्रकाश, उनके बेटे राहुल भाटिया (19) और रेनू भाटिया (42) पत्नी सुरेंद्र भाटिया झुलस गए। तीनों को कोटद्वार अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

वहीं, देहरादून, ऋषिकेश, कोटद्वार आदि शहरों में कई लोगों के घरों में बारिश का पानी घुसने से घर का सामान खराब हो गया। नैनीताल जिले में चोरगलिया के आमखेड़ा गांव की वृद्धा के शव की अंत्येष्टि करने गए 20 लोग शाम सात बजे नंधौर व कैलाश नदी के बीच टापू पर फंस गए। इन्हें देर रात रेस्क्यू कर सुरक्षित निकाला गया। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटे भारी बारिश की चेतावनी दी है।

रुक-रुक कर हो रही बारिश से गढ़वाल के साथ ही कुमाऊं मंडल में नदियां उफान पर हैं। हालांकि सुबह गंगा का जल स्तर कुछ कम होने लगा है। कोटद्वार में बारिश के कारण रिफ्यूजी कालोनी, सिम्मलचोड़, पदमपुर, कौड़िया, लकड़ी पड़ाव, काशी रामपुर सहित कई जगह घरों में पानी घुस गया।

उत्तरकाशी में यमुनोत्री हाईवे पर यातायात सुचारु होने की सूचना है। वहीं बदरीनाथ हाईवे लामबगड़ व मारवाड के पास भूस्खलन से बंद है। पिथौरागढ़ में बारिश के चलते जौलजीवी मदकोट मुनस्यारी और टनकपुर तवाघाट हाइवे अवरुद्ध है।

रायवाला जागकर काटी रात 

ऋषिकेश के नगरीय और ग्रामीण क्षेत्र में गुरुवार की रात से रुक-रुक हो रही बारिश के चलते सड़कें पानी से लबालब हो गई हैं। कई इलाकों में जलभराव हुआ है। गौरी माफी, रायवाला, साहब नगर में गंगा और उसकी सहायक नदियां सोंग, सुसवा आदि उफान पर है। इन ग्रामीण इलाकों में बाढ़ का खतरा बढ़ गया है। यहां के लोगों ने रात जागकर काटी। लगातार हो रही बारिश को देखते हुए पुलिस और प्रशासन भी हालात पर नजर रखे हुए हैं। अभी कहीं से नुकसान की सूचना नहीं है।

गंगा का घटा जलस्तर 

हरिद्वार में गंगा के जलस्तर में घटने बढ़ने का सिलसिला जारी है। कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के अनुसार रात 11 बजे यह बढ़कर 292.95 मीटर पर पहुंच गया था, जो शुक्रवार की सुबह छह बजे घटकर 292.50 मीटर पर आ गया। चेतावनी स्तर 293 और खतरे का निशान 294 मीटर पर है।

12 घंटे तक टापू में फंसे रहे लोग 

नैनीताल में चोरगलिया के आमखेड़ा गांव की वृद्धा के शव की अंत्येष्टि करने गए 20 लोग शाम सात बजे नंधौर व कैलाश नदी के बीच टापू पर फंस गए। बहाव तेज होने की वजह से रात साढ़े 12 बजे रेस्क्यू ऑपरेशन शुरू हो पाया, जो सुबह करीब पांच बजे तक चला।

 

Leave a Comment