Share
कुलभूषण जाधव को पाक सैन्‍य अदालत द्वारा मौत की सजा सुनाई

कुलभूषण जाधव को पाक सैन्‍य अदालत द्वारा मौत की सजा सुनाई

बेंगलुरु। पूर्व भारतीय नौसेना अधिकारी कुलभूषण जाधव के मामले में आज फिर से अंतरराष्‍ट्रीय अदालत में सुनवाई शुरू होने जा रही है। ऐसे में भाजपा ने उनकी जल्‍दी रिहाई की उम्‍मीद जताई है। फिलहाल कथित तौर पर जासूसी के आरोप में जाधव पाकिस्‍तान की जेल में बंद हैं और उन्‍हें मौत की सजा सुनाई गई है। मगर भारत ने संयुक्‍त राष्‍ट्र की शीर्षस्‍थ अदालत में इस फैसले को चुनौती दी है।

भाजपा नेता एस प्रकाश ने उम्‍मीद जताते हुए कहा कि सरकार जाधव को भारत लाने में सफल रहेगी। उन्‍होंने कहा, भारत हर कोशिश करेगा कि जाधव को पाकिस्‍तान की अवैध कैद से रिहा कराया जाए। उन्‍हें बिना किसी सुनवाई और अपना विचार रखने का मौका दिए बिना पाकिस्‍तान की अदालत द्वारा मौत की सजा सुना दी गई। हालांकि उनको रिहा कराने के भारतीय प्रयास से पाकिस्‍तान में न्‍यायिक प्रक्रिया जरूर लंबित हुई है और मुझे पूरा भरोसा है कि होने वाली सुनवाई में भारतीय सरकार जाधव को भारत लाने में सफल रहेगी।

भाजपा नेता राहुल सिन्‍हा ने भी जाधव मामले में न्‍याय मिलने की उम्‍मीद जताई है। उन्‍होंने कहा, अदालत अपना फैसला लेगी। हमें उस पर कोई टिप्‍पणी नहीं करनी चाहिए। मामला अदालत में है और हम उम्‍मीद करते हैं कि हमें न्‍याय मिलेगा।

 

Leave a Comment