Share
मायावती का कांग्रेस से गठबंधन ना करने के फैसले से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा : राहुल गांधी

मायावती का कांग्रेस से गठबंधन ना करने के फैसले से हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा : राहुल गांधी

नई दिल्ली । बसपा अध्यक्ष मायावती ने विपक्षी एकता की संभावनाओं को झटका देते हुए आगामी विधानसभा चुनावों में अकेले लड़ने का फैसला किया है। लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी का मानना है कि इससे पार्टी को कोई खास फर्क नहीं पड़ने वाला है।

राहुल गांधी ने शुक्रवार को कहा कि मायावती का कांग्रेस से गठबंधन ना करने के फैसले से मध्य प्रदेश में हमें कोई फर्क नहीं पड़ेगा। लेकिन, राहुल ने कहा कि 2019 लोकसभा चुनाव के लिए कांग्रेस और बसपा में गठबंधन हो सकता है।

एक कार्यक्रम में राहुल ने कहा ‘मुझे नहीं लगता कि बसपा के साथ गठबंधन से मध्य प्रदेश चुनाव में ज्यादा असर पड़ता।’ हालांकि राहुल ने कहा कि कांग्रेस मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान और तेलंगाना में जीत जरूर दर्ज करेगी। गठबंधन से संबंधित राहुल गांधी ने एक सवाल के जवाब में कहा राज्य में गठबंधन और केंद्र में गठबंधन दोनों अलग बाते हैं। मायावती ने इसी तरफ इशारा किया है। राहुल गांधी ने आगे कहा ‘मुझे लगता है कि लोकसभा चुनाव के दौरान खासकर यूपी में कई दल साथ में आएंगे।’

मायावती ने कांग्रेस पर लगाए गंभीर आरोप

बसपा सुप्रीमो मायावती ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कांग्रेस पर गंभीर आरोप लगाए और कहा कि बसपा को खत्म करने की साजिश रच रही है। बसपा सुप्रीमो ने इसके साथ ही मध्यप्रदेश और राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनावों में अकेले लड़ने की बात कहकर गठबंधन की संभावनाओं पर भी फिलहाल के लिए विराम लगा दिया।
साथ ही मायावती ने कांग्रेस के वरिष्ठ दिग्विजय सिंह को भी आड़े हाथ लिया। उन्होंने कहा था कि दिग्विजय सिंह जैसे कांग्रेस नेता कांग्रेस और बसपा का गठबंधन नहीं चाहते। मायावती ने कहा कि दिग्विजय सिंह ईडी और सीबीआई जैसी एजेंसियों से डरते हैं। मायावती ने दिग्विजय को भाजपा का एजेंट तक बता दिया।

Leave a Comment