Share
गश्त कर रही वन विभाग की टीम पर खनन माफिया ने किया हमला

गश्त कर रही वन विभाग की टीम पर खनन माफिया ने किया हमला

मसूरी: देहरादून में खनन माफिया के हौसले किस कदर बुलंद हैं, इसका नमूना मसूरी में देखने को मिला। यहां गुरुवार रात्रि गश्त कर रही वन विभाग की टीम ने जब अवैध खनन से भरे वाहन को रोका तो खनन माफिया ने टीम पर हमला कर दिया। यही नहीं माफिया ने वन कर्मियों की वर्दी फाड़ने के साथ ही उनके मोबाइल फोन तोड़ दिए और जुर्म दर्ज किताब भी छीन ली।

इसके बाद खनन माफिया वन कर्मियों को जान से मारने की धमकी देकर फरार हो गए। इस हमले में घायल वन बीट अधिकारी का दून अस्पताल में इलाज चल रहा है। उधर, तहरीर मिलने पर मुकदमा दर्ज कर मसूरी पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

मसूरी वन प्रभाग के रिखोली बीट के किमाड़ी क्षेत्र में रात्रि गश्त पर निकले वनकर्मियों पर खनन माफिया ने जानलेवा हमला कर दिया। कोतवाली मसूरी में दी गयी तहरीर के अनुसार बीते चार अप्रैल की रात्रि को वन बीट अधिकारी मोहित कुमार सैनी, वन दारोगा जगजीवन लाल, दीवान सिंह नेगी, एसपी भट्ट, सुरेश कुमार और वाहन चालक मुलायम सिंह किमाड़ी में गश्त पर जा रहे थे।

इस दौरान सामने से आ रहे खनन से लदे पिकअप वाहन संख्या (यूके-07सीए-6528) को रोका गया। पिकअप के चालक महावीर सिंह पुंडीर से रवन्ने के कागजात मांगे गए तो वह कोई भी अभिलेख नहीं दिखा सका। थोड़ी देर में ही पिकअप स्वामी मदन सिंह व उसका एक अन्य साथी गजे सिंह कुछ लोगों के साथ वहां पहुंच गए।

खनन ले जाने को लेकर कोई कागज न दिखाने पर वन विभाग की टीम ने कार्रवाई की बात कही तो खनन माफिया ने उनसे जुर्म किताब एच-2 बीट छीन ली और गाली-गलौज शुरू कर दी। विरोध करने पर खनन माफिया मारपीट पर उतारू हो गए, यहां तक कि उन्होंने वन कर्मियों की वर्दी भी फाड़ दी। इसी दौरान प्रधानपति बाबू सिंह निवासी रिखोली व एक अन्य मनीष अपने कुछ साथियों के साथ मौके पर पहुंचे और साक्ष्य मिटाने के लिए गश्ती टीम के मोबाइल फोन भी तोड़ दिए।

वन बीट अधिकारी मोहित सैनी का आरोप है कि बाबूसिंह व मनीष ने उन्हें पुलिस रिपोर्ट करने पर जान से मारने की धमकी भी दी। खनन माफिया के हमले में मोहित सैनी घायल हो गए, जिनका दून मेडिकल कॉलेज में उपचार चल रहा है। वहीं, मसूरी कोतवाली प्रभारी भावना कैंथोला का कहना है कि तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच की जा रही है। जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे, उसी आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Comment