Share
श्री पंच दशनाम जूना अखाड़े के महंत गोल्डन बाबा एक बार फिर पहुंचे कांवड़ लेकर हरिद्वार

श्री पंच दशनाम जूना अखाड़े के महंत गोल्डन बाबा एक बार फिर पहुंचे कांवड़ लेकर हरिद्वार

हरिद्वार: सोना पहनने को लेकर चर्चाओं में रहने वाले श्री पंच दशनाम जूना अखाड़े के महंत गोल्डन बाबा एक बार फिर कांवड़ लेकर हरिद्वार पहुंचे। वो शाम को कांवड़ लेकर वापस दिल्ली रवाना होंगे। 25 वीं बार कांवड़ यात्रा पर पहुंचे गोल्डन बाबा ने बताया कि इस बार उन्होंने 17 किलो सोना धारण किया हुआ है। जिसकी सुरक्षा के लिए उन्होंने  निजी अंगरक्षकों को तैनात किया है।

गोल्डन पुरी नाम से मशहूर दिल्ली के कारोबारी और श्री पंच दशनाम जूना अखाड़े के महंत गोल्डन बाबा इन दिनों कांवड़ लेने धर्मनगरी हरिद्वार आए हैं। उनकी विशेषता उनके द्वारा शरीर धारण किए गए स्वर्ण आभूषण हैं। आपको बता दें कि गोल्डन पुरी बाबा ने बहादराबाद के शनि देव मंदिर में अपना डेरा बनाया हुआ है। जहां से वो आज शाम कांवड़ लेकर दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

सिल्वर जुबली के लिए डेढ़ करोड़ की कांवड़ 

बाबा ने बताया कि इस बार वे अपनी कांवड़ यात्रा की सिल्वर जुबली मना रहे हैं। जिसके लिए उन्होंने रुड़की के कारीगर से विशेष रूप से कांवड़ तैयार कराई है, जो करीब डेढ़ करोड़ रुपए की है और इसे सोने के पत्र से सजाया गया है। कांवड़ में रखी शिव प्रतिमा को भी स्वर्ण आभूषण से सुसज्जित किया गया है।

इस बार किया 17 किलो सोना धारण 

उनका ये भी बताया कि पिछले साल वो कांवड़ यात्रा में 13 किलो सोना शरीर पर धारण किए हुए थे। लेकिन इसबार इसमें चार किलो का इजाफा करते हुए 17 किलो सोना धारण किया गया है। इस पूरे सोने की कीमत तकरीबन पांच करोड़ रुपये है। गोल्डन बाबा ने बताया कि अपनी सोने की सुरक्षा के लिए वह अपने साथ 12 निजी अंगरक्षक लेकर चल रहे हैं। साथ ही उनके भक्त भी मौजूद हैं।

Leave a Comment