Share
नरेंद्र सिंह नेगी के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है

नरेंद्र सिंह नेगी के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है

देहरादून: उत्तराखंड के प्रसिद्ध लोकगायक ‘गढ़रत्न’ नरेंद्र सिंह नेगी के स्वास्थ्य में लगातार सुधार हो रहा है। उन्हें अभी भी आइसीयू में वेंटिलेटर पर रखा गया है। अस्पताल में दवा और बाहर दुआओं का नेगी दा के स्वास्थ्य पर सकारात्मक असर दिख रहा है।

अब उनका ब्लड प्रेशर व शुगर लेवल नियंत्रित है। यूरीन में जो दिक्कत थी, अब वह भी सामान्य है। हार्ट पंपिंग के लिए लगाया गया डिवाइस हटा लिया गया है। उनका उपचार कर रहे चिकित्सकों का मानना है कि वह जल्द रिकवर हो जाएंगे। अब उन्हें कुछ देर के लिए वेंटिलेटर से हटाया जाएगा। इसके बाद ही अंतिम निर्णय लिया जाएगा। तभी कार्डियोलॉजिस्ट की टीम उनके हृदय संबंधी इलाज के बारे में कोई निर्णय लेगी।

नरेंद्र सिंह नेगी के पुत्र कविलाश नेगी ने बताया कि बीते दिनों की अपेक्षा उनके पिता के स्वास्थ्य में काफी सुधार है। वह लोगों को पहचान रहे हैं और रिस्पांस भी दे रहे हैं। उधर, प्रशंसकों के बीच नेगीदा की सलामती के लिए दुआओं का दौर लगातार जारी है।

आम व खास उनका हाल जानने के लिए अस्पताल पहुंच रहे हैं। काबीना मंत्री मदन कौशिक और  सतपाल महाराज भी उनका हाल जानने मैक्स अस्पताल पहुंचे। उन्होंने नेगी की पत्नी ऊषा नेगी व बेटे कविलाश नेगी से मुलाकात कर डॉक्टरों से उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली।

मुख्य सचिव एस रामास्वामी, जागर गायिका व पद्मश्री  बसंती बिष्ट, पूर्व काबीना मंत्री प्रीतम सिंह पंवार, पूर्व विधायक कुंवर सिंह नेगी, कांग्रेस के वरिष्ठ उपाध्यक्ष जोत सिंह बिष्ट, कांग्रेस सैनिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष कैप्टन बलबीर सिंह रावत, राज्य सैनिक कल्याण परिषद के पूर्व उपाध्यक्ष मेजर हरि चौधरी समेत सियासत, साहित्य व कला-संस्कृति से जुड़े लोगों ने अस्पताल पहुंचकर उनका हाल जाना।

सुशीला बलूनी के स्वास्थ्य में सुधार

राज्य महिला आयोग की पूर्व अध्यक्ष व वरिष्ठ राज्य आंदोलनकारी सुशीला बलूनी के स्वास्थ्य में भी लगातार सुधार हो रहा है। पिछले दिनों की अपेक्षा उनकी तबियत में काफी सुधार दिख रहा है। वह मैक्स अस्पताल के आइसीयू में भर्ती हैं। उनका हाल जानने के लिए लोगों का तांता लगा हुआ है।

बता दें कि बलूनी को तबीयत खराब होने पर सीएमआइ अस्पताल भर्ती किया गया था। जहां से उन्हें मैक्स अस्पताल रेफर किया गया था।

Leave a Comment