Share
जहर का नहीं हुआ असर तो प्रेमी की मदद से की पति की हत्या।

जहर का नहीं हुआ असर तो प्रेमी की मदद से की पति की हत्या।

रुड़की : भगवानपुर क्षेत्र के रुहालकी दयालपुर गांव में विवाहिता ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर पति की गला दबाकर हत्या कर दी। विवाहिता ने पहले पति को रात के समय खाने में जहर दिया, लेकिन जब इसका असर नहीं हुआ तो उसने प्रेमी की मदद से उसका गला दबा दिया। हत्या के बाद प्रेमी फरार हो गया।

महिला ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर हत्या की बात पुलिस के सामने कबूल की है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी गला दबाने की पुष्टि हुई है। पुलिस ने इस मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है।

भगवानपुर थानाक्षेत्र के रुहालकी दयालपुर गांव निवासी प्रवीण उर्फ पिंटू उम्र 25 साल एक फैक्ट्री का कर्मचारी था। करीब पांच साल पहले इसकी शादी देहरादून जिले के तेलपुर गांव निवासी कोमल से हुई थी। उनकी चार साल की एक बेटी है। कोमल का देहरादून के चंदरनगर निवासी नीरज से प्रेम प्रसंग चल रहा है।

बताया गया है कि दोनों ने मिलकर प्रवीण की हत्या की योजना बनाई। योजना के मुताबिक, रात कोमल ने पति के लिए घर में पकौड़ी बनाई थी। इन पकौड़ी में कोमल ने सल्फास की एक गोली मिला दी। पकौड़ी खाने के बाद भी काफी देर तक प्रवीण घर के अंदर टीवी देखता रहा। सल्फास की गोली का इस पर कोई असर नहीं हुआ।

इसके बाद कोमल ने अपने प्रेमी नीरज को फोन करके घर के अंदर बुला दिया। इसके बाद कोमल और उसके प्रेमी नीरज ने प्रवीण की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या के बाद रात को ही प्रेमी नीरज वहां से फरार हो गया।

सुबह जब काफी देर तक भी प्रवीण नहीं उठा तो उसकी मां संतोष को शक हुआ। उसने कमरे में जाकर देखा तो पता लगा कि उसकी मौत हो चुकी है। प्रवीण की मौत से घर में कोहराम मच गया। पति की मौत की जानकारी होने के बाद कोमल अनजान बन गई, लेकिन परिजनों को इसकी गतिविधियों पर शक हुआ। जिस पर परिजनों को उसकी हत्या का शक गया। परिजनों ने इसकी सूचना पुलिस को दे दी।

पुलिस ने शक के आधार पर पत्नी को हिरासत में लिया। पहले तो वह टालमटोल करती रही, लेकिन सख्ती बरतने पर उसने सच उगल दिया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मृतक के गले की हड्डी टूटी हुई मिली। एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि पूछताछ में महिला ने कबूल किया है कि उसने ही प्रेमी के साथ मिलकर पति की हत्या की है।

उन्होंने बताया कि प्रवीण इन दोनों के प्रेम संबंधों में बाधक बन रहा था। मृतक के भाई जितेंद्र की तहरीर पर पुलिस ने कोमल और नीरज निवासी देहरादून के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। एसपी देहात ने बताया कि नीरज की गिरफ्तारी के लिए दबिश दी जा रही है।

तीन माह पहले रच दी थी हत्या की पटकथा

नीरज के कोमल से शादी से पहले ही प्रेम संबंध थे। नीरज ने तीन माह पहले ही प्रवीण की हत्या की पटकथा लिख दी थी, लेकिन इसकी योजना कुछ दिन पहले ही बनी थी। जब नीरज की तरफ से कोमल को नये साल का दिया गया गिफ्ट पति ने देख लिया और उसकी जमकर पिटाई कर दी। इस बात से दोनों ही आक्रोशित थे।

कोमल दो दिन पहले दवाई लेने के बहाने से रुड़की आई थी। यहीं पर नीरज ने उसे सल्फास की गोली दी थी। योजना के मुताबिक, कोमल ने एक बार पहले भी पति को जहर देकर मौत के घाट उतारने का प्रयास किया था। पुलिस ने बताया कि कोमल ने हत्या से एक दिन पहले भी दाल में एक सल्फास की गोली डाल दी थी, लेकिन दाल में बदबू आने के चलते प्रवीण ने दाल खाने से इंकार कर दिया था। जिसके चलते उस समय तो प्रवीण की जान बच गई, लेकिन वह अपनी मौत को ज्यादा दिन तक नहीं टाल सका।

एसपी देहात मणिकांत मिश्रा ने बताया कि करीब तीन माह पहले नीरज गांव में कोमल से मिलने आया था। पति ने दोनों को देख लिया था। जिसके बाद नीरज की पिटाई हुई थी। इस पिटाई का बदला लेने के लिये नीरज मन ही मन ठान चुका था। उसका यह मकसद उस दिन पूरा होते दिखा। जिस दिन कोमल को दिया गया नया साल का गिफ्ट पति ने घर के अंदर देखा और पत्नी की जमकर पिटाई की।

इस बात को लेकर कोमल भी मन ही मन पति से रंजिश रखने लगी थी। दो दिन पहले वह दवा लेने के बहाने रुड़की के एक नर्सिंग होम में आई थी। यहां पर उसने पिटाई का जिक्र प्रेमी से किया। जिसके बाद इसी नर्सिंग होम के बाहर ही  नीरज ने उसे सल्फास की गोली दी थी और रात को ही घर आने की बात कही थी।

रात जिस समय पति को पकौड़ी में जहर मिलाया गया तो उस समय प्रेमी गांव के बाहर ही घूम रहा था। जब जहर का असर नहीं हुआ तो कोमल ने चुपचाप उसे घर के अंदर बुला लिया और उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। एसपी देहात ने बताया कि नर्सिंग होम के बाहर लगे कैमरे की सीसीटीवी फुटेज खंगाली जा रही है। हत्या को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चाएं हैं।

Leave a Comment