Share
पुलिस लाइन में ‘हिमालय के वीर’ थीम पर आयोजित कार्यक्रम का हुआ आयोजन

पुलिस लाइन में ‘हिमालय के वीर’ थीम पर आयोजित कार्यक्रम का हुआ आयोजन

देहरादून : भारत -तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) ने युवाओं को आकर्षित करने के लिए एक अनूठी पहल की है। इसके तहत मंगलवार को देहरादून में एक विशेष शो का आयोजन किया गया। इसमें आइटीबीपी के जांबाजों ने हैरतंगेज करतब दिखा दर्शकों को रोमांचित कर दिया।

देहरादून स्थित पुलिस लाइन में ‘हिमालय के वीर’ थीम पर आयोजित कार्यक्रम का मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और आइटीबीपी के महानिदेशक आरके पचनंदा के साथ सेना, पुलिस व सिविल प्रशासन के आला अधिकारियों ने लुत्फ उठाया। आइटीबीपी ने दून में पहली बार इस तरह का शो आयोजित किया था। कार्यक्रम का उद्देश्य युवाओं में देशभक्ति की भावना जागृत करना और उन्हें सशस्त्र सेनाओं की तरफ आकर्षित करना था। आइटीबीपी के महानिदेशक आरके पचनंदा ने सभी का आभार जताया। इस दौरान काबीना मंत्री सुबोध उनियाल, उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अनिल रतूड़ी भी मौजूद रहे।

शो का आगाज फोर्स सांग व मार्च पास्ट के साथ हुआ। मार्च पास्ट में शामिल जांबाजों ने मुख्य अतिथि को सलामी दी। इसके बाद आइटीबीपी की महिला जवानों की टुकड़ी, कमांडो दस्ता, पैरा ट्रूपर, ब्रास बैंड व पाइप बैंड दस्ते ने कदमताल की। इसके बाद कांस्टेबल अंबिका के नेतृत्व में आइटीबीपी की महिला टुकड़ी द्वारा प्रस्तुत पाइप बैंड की प्रस्तुति भी आकर्षण का केंद्र रही। वहीं हिमवीरांगनाओं ने प्रशिक्षक जुनैद के नेतृत्व में साइलेंट ड्रिल (राइफल मैजिक) का प्रदर्शन किया। पावर योगा शो व घुड़सवारी का प्रदर्शन भी शानदार रहा।

मोटर साइकिल दस्ते ने किया रोमांचित 

मोटर साइकिल दस्ते द्वारा प्रस्तुत हैरतंगेज करतब कार्यक्रम का खास आकर्षण रहे। बाइक पर सवार हिमवीरों ने एक से बढ़कर एक करतब दिखाकर सभी को दांतों तले उंगली दबाने के मजबूर कर दिया। पाइप बैंड की मनमोहक धुन व राष्ट्रगीत की प्रस्तुति के साथ कार्यक्रम का समापन हुआ।

इस दौरान मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने प्राकृतिक आपदा से लेकर चारधाम यात्रा के संचालन में आइटीबीपी के योगदान की सराहना की। उन्होंने कहा कि यहां आइटीबीपी ने शौर्य व पराक्रम के साथ देश की विविध संस्कृति की जो झलक पेश की वह यादगार रहेगी।

Leave a Comment