Share
पहाड़ की बेटी ने मारी बाजी

पहाड़ की बेटी ने मारी बाजी

हरिद्वार । उत्तराखंड की बेटी ने एक बार फिर कमाल कर दिखाया है। लोक सेवा आयोग ने उत्तराखंड सम्मिलित राज्य सिविल/अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2012 का परिणाम जारी कर दिया है। अल्मोड़ा की सौम्या गुरुरानी ने सर्वाधिक अंक हासिल कर टॉप किया है। कुल 233 पदों के लिए हुई परीक्षा में कुल 207 प्रतिभागी ही चयनित हो सके हैं। इनमें से 193 का परिणाम जारी किया है, जबकि बाकी के चौदह पदों का परिणाम कोर्ट के आदेश पर रोका गया है। यह राज्य आंदोलनकारियों के लिए आरक्षित थे। इसे कोर्ट के आदेश के बाद ही जारी किया जाएगा।

उत्तराखंड सम्मिलित राज्य सिविल अवर अधीनस्थ सेवा परीक्षा 2012 की परीक्षा के लिए अधिसूचना 4 सितंबर 2014 को जारी हुई थी। 30 नवंबर 2015 को प्री परीक्षा हुई थी। इस परीक्षा से उत्तीर्ण हुए 2150 अभ्यर्थियों ने 31 जनवरी से 3 फरवरी 2016 के बीच मुख्य परीक्षा में हिस्सा लिया।

ये भी पढ़े : प्रदेश में स्वाइन फ्लू का बढ़ा खतरा, अब तक छह की मौत

परीक्षा नियंत्रक पीयू डंडरियाल ने बताया कि 576 अभ्यर्थियों को साक्षात्कार के लिए बुलाया था। साक्षात्कार की प्रकिया 18 मई से 20 जून तक चली है। एसडीएम के कुल सोलह पदों से पंद्रह का परिणाम जारी किया है, जबकि एक का परिणाम राज्य आंदोलनकारी के लिए रोका है।

डिप्टी एसपी के 21 पदों में से 20 का परिणाम जारी किया है, जबकि एक का रोका गया है। समाज कल्याण अधिकारी के छह, एआरटीओ के पांच, जिला पंचायत राज कार्य अधिकारी के छह पदों का परिणाम जारी किया है।

खंड विकास अधिकारी के 32 पदों में से 28 का परिणाम जारी किया है, जबकि तीन का परिणाम राज्य आंदोलनकारी के लिए रोक दिया है। इसमें एक पद पर योग्य प्रतिभागी नहीं मिलने से खाली रह गया है।

गुरुवार रात आयोग ने श्रेष्ठताक्रम के अनुसार चयनित अभ्यर्थियों के नाम और रोलनंबर जारी कर दिए। डिप्टी कलेक्टर पद पर सौम्या गुरुरानी पहले, अभय प्रताप सिंह दूसरे और आकाश जोशी तीसरे स्थान पर रहे। डिप्टी कलेक्टर के लिए 15 अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए हैं। पुलिस उपाधीक्षक पद पर 20, जिला समाज कल्याण अधिकारी पद पर छह, सहायक संभागीय परिवहन अधिकारी पद पर पांच और कार्य अधिकारी जिला पंचायत पद पर छह अभ्यर्थी सफल घोषित किए गए हैं।

Leave a Comment