Share
पंजाब के लापता यात्रियों के साथ अनहोनी की आशंका

पंजाब के लापता यात्रियों के साथ अनहोनी की आशंका

जोशीमठ (चमोली) : हेमकुंड साहिब यात्रा के दौरान लापता हुए अमृतसर (पंजाब) के लापता यात्रियों का वाहन दुर्घटनाग्रस्त होने की आंशका है। सर्च आपरेशन के दौरान पुलिस को हेमकुंड साहिब के प्रमुख पड़ाव गोविंदघाट से पांच किलोमीटर दूर एक पुल के पास वाहन के पाटर्स और पगड़ी मिली है। मौके पर मौजूद परिजनों ने पगड़ी की पहचान की है। सेना, एसडीआरएफ और पुलिस की संयुक्त टीम आसपास के इलाके में लापता लोगों की तलाश कर रही है।

एक जुलाई को अमृतसर से रवाना हुए आठ यात्रियों के दल तीन जुलाई को गोविंदघाट पहुंचा। गोविंदघाट गुरुद्वारे के रजिस्टर में यात्रियों के नाम दर्ज हैं। इस आधार पर पुलिस का अनुमान है कि यात्री चार जुलाई को हेमकुंड साहिब गए होंगे और छह तारीख को वापसी की होगी। इसी दिन वाहन चालक महंगा सिंह ने अपने परिजनों से भी बात की। इसके बाद से सभी के मोबाइल बंद हैं। लापता यात्रियों में दो एनआरआइ भी शामिल हैं।

गुरुवार से पुलिस यात्रियों की तलाश में जुटी है। चमोली की पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट ने बताया कि सर्च अभियान में लगे दल को गोविंदघाट से कुछ दूर टैया पुल के पास सड़क पर टायरों के निशान के साथ ही टूटी झाड़ियां दिखायी दीं। टीम पहाड़ी से नीचे उतरी तो वहां दो पगड़ी, इनोवा वाहन की साइड बिडिंग के साथ कुछ अन्य पाटर्स भी मिले। टीम के साथ आए परिजनों ने पगड़ी की पहचान कर ली है।

सर्च आपरेशन में जुटी टीम में शामिल जवान रस्सियों के सहारे अलकनंदा नदी के किनारे उतरे और आसपास के इलाके को खंगाला। हालांकि इसके अलावा अभी कुछ और नहीं मिल सका है। एसपी ने आशंका जताई कि वाहन अलकनंदा के तेज बहाव में समा गया है। उन्होंने कहा कि सर्च आपरेशन जारी रहेगा।

लापता कुलवीर सिंह के भाई सुखदेव ने बताया कि जो सामान मौके से मिला है, वह इसी वाहन का है। यात्री कृपाल सिंह के भाई नरेंद्र सिंह ने अनहोनी की आशंका जताते हुए कहा कि वे लोग अभी अमृतसर जा रहे हैं। एक-दो दिन में फिर लौटेंगे।

Leave a Comment