Share
पांच दिवसीय यात्रा को खत्म कर भारत के लिए रवाना हुए पीएम

पांच दिवसीय यात्रा को खत्म कर भारत के लिए रवाना हुए पीएम

सिंगापुर । प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर की पांच दिवसीय यात्रा को खत्म कर भारत के लिए रवाना हुए। पीएम के तीन देशों की यात्रा के समापन पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने कहा कि प्रधानमंत्री की यात्रा ने भारत की अधिनियम पूर्व नीति में गति को जोड़ा है। कुमार ने ट्वीट कर कहा, ‘तीन देशों इंडोनेशिया, मलेशिया और सिंगापुर की सफल और महत्वपूर्ण यात्रा को खत्म कर पीएम मोदी भारत के लिए रवाना हुए।’

खास रहा मोदी का सिंगापुर दौरा

अपने तीन दिवसीय सिंगापुर यात्रा के दौरान पीएम मोदी के सिंगापुर के प्रधानमंत्री ली सियन लूंग के साथ व्यापक बातचीत की और एशिया के प्रमुख रक्षा व रणनीतिक मामलों के सम्मेलन, शांगरी-ला डायलॉग को भी संबोधित किया। वे शांगरी-ला डायलॉग को संबोधित करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं। पीएम ने इस मंच से चीन को कड़ी नसीहत भी दी। उन्होंने कहा कि भारत और चीन को एक-दूसरे के हितों का ध्यान रखना चाहिए। वहीं, सिंगापुर दौरे के आखिरी दिन पीएम मोदी मंदिर और मस्जिद के दर पर देखे गए।

चांगी नेवल बेस पर लगे भारत माता की जय के नारे

प्रधानमंत्री मोदी अपने दौरे के आखिरी दिन  सिंगापुर के चांगी नेवल बेस भी गए, यहां उन्होंने भारत और सिंगापुर के नौसेना अधिकारियों से मुलाकात की। साथ ही यहां तैनात आइएनएस सतपुड़ा का भी जायजा लिया। इस दौरान पीएम मोदी की मौजूदगी में नौसेना के जवानों ने भारत-माता की जय के नारे भी लगाए।

श्रीमरम्मन मंदिर में पूजा-अर्चना

पीएम मोदी ने सिंगापुर के प्रसिद्ध श्रीमरम्मन मंदिर में पूजा-अर्चना की और वहां के पूजारी से आशीर्वाद लिया। पीएम के मंदिर दर्शन पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट कर कहा कि पीएम मोदी ने सांस्कृतिक रिश्तों को मजबूती देते हुए सिंगापुर के सबसे पुराने हिंदू मंदिर में पूजा की। उन्होंने बताया कि यह भगवान मरम्मन मंदिर 1827 में बनाया गया था।

चूलिया मस्जिद में पीएम मोदी

मंदिर के बाद पीएम मोदी मशहूर चूलिया मस्जिद पहुंचे। यहां उनके साथ सिंगापुर के सांस्कृतिक मंत्री ग्रेस येन भी मौजूद रहे। बता दें कि यह मस्जिद एक भारतीय चूलिया मुस्लिम व्यापारी ने बनवाई थी।

भगवान बुद्ध की शरण में मोदी 

श्रीमरम्मन मंदिर और मशहूर चूलिया मस्जिद के बाद पीएम मोदी भगवान बुद्ध की शरण में पहुंचे। सिंगापुर के प्रसिद्ध  बुद्ध दंत अवशेष मंदिर के पीएम ने दर्शन किए और वहां के संग्रहालय का भी दौरा किया।

वहीं, पीएम मोदी ने सिंगापुर में अमेरिका के रक्षा मंत्री जैम्स मैटिस से मुलाकात की। इस मुलाकात को काफी अहम माना जा रहा है।

मेटिस से मुलाकात से पहले पीएम मोदी सिंगापुर के पूर्व प्रधानमंत्री गोह चोक तोंग से मिले।

वहीं, उन्होंने सिंगापुर के क्लिफॉर्ड पियर में महात्मा गांधी पट्टिका का अनावरण किया। इस दौरान गोह चोक तोंग भी मौजूद थे।

पीएम मोदी के नाम पर रखा गया अॉर्किड का नाम

सिंगापुर में विशेष भाव के तहत प्रधानमंत्री मोदी के नाम पर एक ‘ऑर्किड’ (फूल) का नाम रखा गया है। पीएम मोदी के लिए प्रधानमंत्री ली सियन लूंग द्वारा आयोजित दोपहर भोज के दौरान भी इस ‘ऑर्किड’ को हेड टेबल के पीछे प्रदर्शित किया गया।

बता दें कि आर्किड पौधों का एक कुल है, जिसके सदस्यों के पुष्प बहुत सुंदर और सुगंध युक्त होते हैं। पुष्प जगत में आर्किडों को बड़ी प्रतिष्ठा प्राप्त है, क्योंकि इनके रंग रूप में विलक्षण विचित्रता है। ये बहुवर्षी बूटों का विशाल समुदाय है, जो जमीन पर या दूसरे पेड़ों पर आश्रय ग्रहण कर उगते हैं या कुकुरमुत्ते के समान मृतभोजी जीवन बिताते हैं।

बता दें कि शुक्रवार को दोनों देशों के बीच कई अहम समझौतों पर हस्ताक्षर भी हुए। विदेश मंत्रालय ने बताया कि दोनों देशों के बीच रणनीतिक, आर्थिक और टेक्नॉलोजी के मुद्दों पर सहमति बनी है।

Leave a Comment