मैच फिक्सिंग में फंसे होने के आरोप में पुलिस ने बेंगलुरु के एक खिलाड़ी को गिरफ्तार किया

इस साल बेंगलुरु में खेली गई कर्नाटक प्रीमियर लीग मैच फिक्सिंग की वजह से बदनाम रही है। पुलिस इस मामले में लगातार जांच कर रही है। अब इसी कड़ी में पुलिस ने केपीएल में स्पॉट फिक्सिंग स्कैंडल में एक और खिलाड़ी को गिरफ्तार कर लिया है।

मंगलवार को पुलिस ने मैच फिक्सिंग के मामले में बेंगलुरु ब्लास्टर्स (Bengaluru Blasters) के बल्लेबाज निशांत सिंह शेखावत (Nishant Singh Shekhawat) को गिरफ्तार कर लिया है। निशांत सिंह इस मैच फिक्सिंग के मामले में गिरफ्तार किए जाने वाले पहले खिलाड़ी नहीं हैं।

ये भी हुए थे गिरफ्तार

निशांत से पहले पुलिस ने एम विश्वनाथन को 25 अक्टूबर को गिरफ्तार कर लिया था। वहीं, इससे पहले सेंट्रल क्राइम ब्रांच (CCB) की टीम ने ज्वाइंट पुलिस कमिशनर (Crime) संदीप पाटिल की नेतृत्व में अली असफाक थारा, केपीएल टीम बेलागावी पेंथर्स (Belagavi Panthers) को सितंबर में गिरफ्तार किया था।

एक ओवर में दस रन देने के लिए किया था अप्रोच

बेंगलुरु ब्लास्टर्स के बोलिंग कोच वीनू प्रसाद भी गिरफ्तार किए जा चुके हैं। पुलिस ने सेलेब्रिटी ड्रमर भवेश बफना को भी गिरफ्तार कर लिया है, जिसने एक खिलाड़ी को एक ओवर में 10 रन देने के लिए अप्रोच किया था। सीसीबी ने दो बुकियों के खिलाफ भी नोटिस जारी कर दिया है जो पिछले साल फिक्सिंग और सट्टेबाजी में शामिल थे।

निशांत शेखावत का था लिंक

डीसी की रिपोर्ट के अनुसार निशांत सिंह शेखावत टीम के सदस्यों और बुकियों के साथ संपर्क में था। निशांत विश्वनाथन और प्रदसाद के साथ चंडीगढ़ के बुकी के साथ लिंक में था। इस मैच फिक्सिंग स्कैंडल ने केपीएल की इमेज को खराब कर दिया है।

बता दें कि कर्नाकट स्टेट क्रिकेट एसोसिएशन ने इस लीग को 2009 में शुरू किया था। टूर्नामेंट को आइपीएल के आधार पर शुरू किया था जो कर्नाटक के प्लेयर्स के लिए थी। केपीएल के अलावा तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) में भी फिक्सिंग स्कैंडल सामने आया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *