Share
पुलिस और सेना को मिली बड़ी कामयाबी

पुलिस और सेना को मिली बड़ी कामयाबी

 कश्मीर। पुलिस और सेना के ज्‍वॉइंट ऑपरेशन में पुलवामा मुठभेड़ के दौरान लश्‍कर कमांडर अबु दुजाना  मारा गया है। अबु दुजाना जम्मू-कश्मीर का लश्कर प्रमुख था और उस पर 10 लाख रुपये का इनाम था। सूत्रों के हवाले से मिल रही सूचना के मुताबिक, इस मुठभेड़ में लश्कर आतंकी आरिफ भी ढेर हो गया है। हालांकि अभी तक अबु दुजाना के शव की शिनाख्त अभी तक नहीं हुई है। बताया जा रहा है कि हाल ही में अमरनाथ यात्रियों के बस पर हमले के पीछे दुजाना का ही दिमाग था।

जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद्य का कहना है कि हमने मारे गए आतंकियों के शवों को अभी रिकवर किया है। पहचान होने के बाद ही हम यह बता पाएंगे कि मारे गए आतंकी कौन हैं। उन्होंने कहा कि धीरे-धीरे घाटी में हालात सुधर रहे हैं।

अबु दुजाना कश्मीर में लश्कर का कमांडर था और आतंकी कासिम की मौत के बाद कश्मीर में लश्कर का कमांडर बना था। वह पिछले सात साल से कश्मीर में सक्रिय था। जम्मू-कश्मीर के डीजीपी एसपी वैद्य ने एनकाउंटर की पुष्टि करते हुए बताया कि अबु दुजाना और आरिफ ललहारी उस घर में मौजूद थे। घर में आग लगी हुई है।

बता दें कि कश्मीर घाटी के पुलवामा जिले में सेना ने तड़के साढ़े चार बजे से ही हाकरीपोरा गांव को घेर रखा था। सीआरपीएफ की 182 बटालियन, 183 बटालियन, 55 राष्ट्रीय राइफल और एसओजी की टीम ने इलाके को घेरकर सर्च अभियान शुरू किया। सुरक्षा बलों को इलाके में 2-3 आतंकियों के मौजूद होने की खबर मिली थी। बताया जा रहा है कि  पुलवामा में अबु दुजाना सहित लश्कर के तीन आतंकियों को सुरक्षा बल ने घेरा था। सूत्रों की मानें तो हारकीपोरा गांव में अब मुठभेड़ खत्म हो गई है।

इससे पहले सोमवार को कश्मीर के बोनिता सेक्टर में सुरक्षा बलों को नियंत्रण रेखा के पास एक आतंकवादी का शव मिला। शनिवार रात तोरना पोस्ट पर नियंत्रण रेखा के पास संदिग्ध गतिविधि नजर आने पर सेना के जवानों ने गोलियां चलाईं। सोमवार को इलाके में तलाशी अभियान के दौरान आतंकी का शव बरामद हुआ। अधिकारियों ने बताया कि घटनास्थल से एक राइफल भी बरामद हुई।

Leave a Comment