Share
Surgical Strike के बाद पाकिस्‍तान में सियासत तेज, पाकिस्‍तानी संसद में इमरान खान मुर्दाबाद के लगे नारे

Surgical Strike के बाद पाकिस्‍तान में सियासत तेज, पाकिस्‍तानी संसद में इमरान खान मुर्दाबाद के लगे नारे

इस्‍लामाबाद । Surgical Strike2- भारतीय वायु सेना द्वारा जैश-ए-मोहम्‍मद के आतंकी ठिकानों पर Air Strike के बाद पाकिस्‍तान में सियासत तेज हो गई है। पाकिस्‍तानी संसद के अंदर विपक्ष ने प्रधानमंत्री इमरान खान के नाम पर मुर्दाबाद के नारे लगाए। विपक्ष की मांग है कि इमरान खान को सदन में आकर जवाब देना चाहिए। सदन में सरकार का जवाब है कि भारतीय वायु सेना के इस हमले में पाकिस्‍तान में किसी तरह के जानमाल का नुकसान नहीं हुआ है।

पाकिस्‍तान की नेशनल एसेंबली सदन में यह मांग भी उठी कि इस Air Strike को लेकर भारत पर अंतरराष्‍ट्रीय दबाव बनाया जाए। पाकिस्‍तान अंतरराष्‍ट्रीय एजेंसी और इस्‍लामिक देशों को अपने पक्ष में करने की रणनीति बना सकता है। इसके अलावा पाकिस्‍तान सरकार ने कहा है कि वह आत्‍मरक्षा के लिए अपनी सामरिक रणनीति बना रहा है। उधर, मामले की गंभीरता को देखते पाकिस्‍तान सदन की संयुक्‍त बैठक बुधवार को बुलाई गई है।

उधर, मंगलवार को पाकिस्‍तान की सेना प्रवक्‍ता मेजर जनरल आसिफ ने सुबह ट्वीट कर भारत पर सीमा के उल्लंघन का आरोप लगाया और लिखा है कि भारतीय वायुसेना ने मुजफ्फराबाद सेक्टर से घुसपैठ की कोशिश की थी। उन्होंने आगे लिखा है कि पाकिस्तानी सेना द्वारा ठीक समय पर प्रभावी जवाब दिया गया। उन्‍होंने कहा कि पाकिस्‍तान की त्‍वरित कार्रवाई के बाद भारतीय विमान बालाकोट में पेलोड गिराकर भाग गया।

पाकिस्‍तान सेना के इस बयान में बालाकोट का जिक्र आने के बाद पाकिस्‍तान की संसद में बवाल मच गया। दरअसल पाकिस्‍तान में बालाकोट नाम से दो जगहें हैं। एक जगह एलओसी के नजदीक है और दूसरा करीब 80 किलोमीटर दूर है। एलओसी से सटा बालाकोट गुलाम कश्मीर में आता है और तकनीकी रूप से यह पाकिस्‍तान का हिस्‍सा नहीं है। दूसरा बालाकोट पाकिस्‍तान की सरजमीं पर है। इस भ्रम के बाद पाकिस्‍तानी पत्रकारों ने सेना से सवाल पूछना शुरू कर दिया कि किस बालाकोट पर भारत ने हमला किया है। यह सवाल पाकिस्‍तानी संसद में भी गूंजा।

बता दें कि भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 विमानों ने पाकिस्तान में आतंकी कैंपों को ध्वस्त कर दिया। विदेश सचिव विजय गोखले ने मंगलवार सुबह प्रेस कॉन्फ्रेंस करके वायुसेना के इस पराक्रम की पुष्टि की है। प्रधानमंत्री की अध्यक्षता में सुबह एनएसए और कैबिनेट की बैठक भी हुई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति को भारतीय वायु सेना द्वारा गुलाम कश्मीर में किए गए Air Strikes की जानकारी दी है। सूत्रों के हवाले से खबर मिल रही है कि बालाकोट के आत्मघाती बम ट्रेनिंग सेंटर में भारतीय वायुसेना के एयर स्ट्राइक में 300 से ज्यादा आतंकी मारे गए हैं। NSA अजित डोवाल सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत और वायुसेना प्रमुख बीएस धनोआ के साथ मिलकर सीमाई क्षेत्रों की सुरक्षा का जायजा ले रहे हैं।

Leave a Comment