Share
विधानसभा सीट से छत्तीसगढ़ में चौथी बार भगवा लहराने की तैयारी में प्रधानमंत्री, 14 से अधिक विधानसभा सीटों पर पड़ेगा असर

विधानसभा सीट से छत्तीसगढ़ में चौथी बार भगवा लहराने की तैयारी में प्रधानमंत्री, 14 से अधिक विधानसभा सीटों पर पड़ेगा असर

 रायपुर। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को विपक्ष के दबदबे वाली विधानसभा सीट से छत्तीसगढ़ में चौथी बार भगवा लहराने का चुनावी शंखनाद करेंगे। पीएम की सभा जांजगीर-चांपा विधानसभा सीट पर होगी, लेकिन इसका असर पांच जिलों की करीब 14 से अधिक विधानसभा सीटों पर पड़ेगा। जिन 14 सीटों पर असर पड़ेगा, उनमें चार सीट अनुसूचित जाति व एक अनुसूचित जनजाति की है। 14 में से सात सीटों पर इस वक्त भाजपा के विधायक हैं।

छह पर कांग्रेस व एक बसपा के कब्जे में हैं। बतौर पीएम मोदी पहली बार बिलासपुर संभाग में सभा करेंगे। कांग्रेसी विधायक वाले जांजगीर विधानसभा क्षेत्र में पीएम की इस सभा के भी पूरी तरह चुनावी होने की संभावना है।

चार सीटों पर अब तक नहीं जीत पाई है भाजपा

मोदी की सभा का जिन 14 सीटों पर सीधा असर पड़ने की संभावना जताई जा रही है, उनमें से चार सीट भाजपा अब तक जीत नहीं पाई है। वहीं, छह सीटें ऐसी हैं, जिन पर पिछली बार वह पहली बार जीती है। इसी तरह दो सीट ऐसी भी हैं, जिन्हें भाजपा 2013 में पहली बार हारी है।

किसान सम्‍मेलन में होंगे शामिल 

प्रधानमंत्री जांजगीर के पुलिस मैदान में आयोजित किसान सम्मेलन में शिरकत करेंगे। मुख्यमंत्री डॉ.रमन सिंह अटल विकास यात्रा के दूसरे चरण में शनिवार को जांजगीर चांपा पहुंच रहे हैं। पीएम मोदी मुख्यमंत्री डॉ. सिंह के अटल विकास यात्रा में शामिल होंगे। पीएम के कार्यक्रम को किसान सम्मेलन का नाम दिया गया है।

एक लाख की भीड़ जुटाने का लक्ष्य

भाजपाई रणनीतिकारों ने पीएम मोदी के कद के अनुरूप एक लाख की भीड़ जुटाने का लक्ष्य रखा है। बारिश के मौसम को देखते हुए सभा स्थल में 12 डोम व 25 से ज्यादा एलइडी लगाई गई है। दूर में बैठे लोग भी पीएम को साफ-साफ स्क्रीन से देख सकेंगे। एक डोम में बैठने की क्षमता 8 से 10 हजार लोगों की है।

किसानों पर रहेगी नजर

बिलासपुर संभाग के अंतर्गत आने वाले जांजगीर-चांपा को कृषि के लिहाज से सबसे सम्पन्न जिला माना जाता है। यहां के किसान दो फसल लेते हैं। धान के उत्पादन में यह जिला अग्रणी है। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस बार समर्थन मूल्य पर धान बेचने वाले किसानों को भुगतान के साथ ही बोनस देने की घोषणा भी की है।

भाजपाई रणनीतिकारों की नजरें पीएम मोदी की सभा में जुटने वाले किसानों पर लगी हुई। भुगतान के साथ बोनस देने के एलान के बाद ऐसा माना जा रहा है कि पीएम की सभा में बड़ी संख्या में किसान शामिल होकर मुख्यमंत्री की घोषणा को हाथों हाथ लेंगे।

Leave a Comment