Share
भारी भीड़ देख रुकीं प्रियंका

भारी भीड़ देख रुकीं प्रियंका

मिर्जापुर के नरायनपुर में भारी भीड़ देख रुकीं प्रियंका, महिलाओं ने किया स्वागत
मिर्जापुर,  सोनभद्र के उभ्भा गांव जाने को निकली प्रियंका वाड्रा जैसे हीं नरायनपुर पहुंची लोगों की भीड़ देख अपनी गाड़ी रुकवा दी। सड़क किनारे खड़ी दर्जनों महिलाएं और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने प्रियंका का जोरदार स्वागत किया।

इस दौरान नारेबाजी के बीच मुस्कुराती हुई प्रियंका भीड़ के बीच जा पहुंची जहां उन्हें माला पहनाई गई। इस दौरान एसपीजी सुरक्षा में लगे जवान लोगों को दूर करते रहे लेकिन प्रियंका ने सबसे हाथ मिलाया और मुस्कुराते हुए अभिवादन कर वापस अपनी कार में सवार होकर सोनभद्र के लिए रवाना हो गईं। यह वही जगह है जहां पिछली बार सोनभद्र जाते समय प्रियंका गांधी को जिला प्रशासन ने रोक लिया था और चुनार गेस्ट हाउस के गए थे। मंगलवार को माहौल अलग रहा, पुलिस चौकन्नी रही और प्रियंका वाड्रा को सकुशल सीमा पार कराया गया।

सोनभद्र के नरसंहार पीडि़त उभ्भा गांव में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा आज पीडि़त परिवार के लोगों से मिलेंगी। प्रियंका गांधी वाड्रा उभ्भा गांव में नरसंहार के पीड़ितों से मिलने के लिए वाराणसी एयरपोर्ट पहुंची। प्रियंका गांधी वाराणसी से सोनभद्र रवाना, उभ्भा गांव के पीडि़तों से मिलेंगी।

बाबतपुर एयरपोर्ट पर मीडिया ने कई बार बात करने का प्रयास किया, लेकिन प्रियंका गांधी मीडिया से बचती रहीं। एयरपोर्ट पहुंचने के बाद एयरपोर्ट के वीआईपी गेट के बाहर निकलने के बाद कतारबद्ध खड़े कांग्रेस के नेताओं और कार्यकर्ताओं से उन्होंने मुलाकात की किया। इस दौरान कुछ कार्यकर्ताओं ने पार्टी के स्थानीय नेताओं को लेकर शिकायत भी किया। उसके बाद प्रियंका गांधी 10:00 बजे सड़क मार्ग से सोनभद्र के लिए प्रस्थान कर गयीं।

उनके साथ पूर्वांचल के कई जिलों के कांग्रेस के पदाधिकारी व कार्यकर्ता भी चल रहे हैं। प्रियंका के आने से नरसंहार का मामला एक बार फिर गरमा गया है। प्रियंका 2.30 बजे उभ्भा में नरसंहार के पीड़ितों के साथ रहेंगी। इसके लिए उभ्भा के प्राथमिक विद्यालय में व्यवस्था की गई है। प्रियंका के वाराणसी-शक्तिनगर राज्यमार्ग से राबर्ट्सगंज से होते हुए उभ्भा जाने को लेकर पुलिस अलर्ट है। वहीं जिला व पुलिस प्रशासन के अधिकारी भी स्थिति पर नजर रखते हुए शासन से संपर्क में बने हुए हैं। प्रियंका के आने को लेकर वाराणसी व मीरजापुर प्रशासन भी पूरी तरह से अलर्ट है। वहीं वाराणसी, सोनभद्र, मीरजापुर व भदोही के साथ ही पूरे पूर्वांचल के कांग्रेसजन ने उभ्भा के साथ ही घोरावल में डेरा डाल दिया है। किसी तरह की कोई बात न हो इसलिए पुलिस-प्रशासन के लोग भी लगे हुए हैं।

उभ्भा गांव में नरसंहार की घटना के 27 दिन बाद मंगलवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा के गांव का दौरा करने से एक बार फिर वहां के माहौल में तनाव की आशंका पर प्रशासन हाई अलर्ट पर है। इससे पहले 19 जुलाई को प्रियंका गांधी उभ्भा गांव जाने की जिद पर अड़ी थीं और मिर्जापुर में धरना पर बैठ गई। वहां पर उस दौरान धारा 144 लगी थी। इसके बाद 20 जुलाई को उनको कुछ पीडि़त परिवारों से मिलवाया गया। उसके बाद वह वाराणसी में श्रीकाशी विश्वनाथ व बाबा काल भैरव का दर्शन करने के बाद नई दिल्ली लौटी थीं।

प्रियंका गांधी के आज उभ्भा गांव में आने के कार्यक्रम के कारण नरसंहार का मामला एक बार फिर गरमाने की बात कही जा रही है। प्रियंका वाड्रा दोपहर एक बजे नरसंहार के पीडि़तों से मिलने के लिए उभ्भा गांव में पहुंचेंगी। प्रियंका के आने को लेकर वाराणसी के साथ ही सोनभद्र का प्रशासनिक अमला पूरी तरह से अलर्ट हो गया है। वह लगातार शासन के संपर्क में है। वहीं वाराणसी, सोनभद्र, मीरजापुर व भदोही के साथ ही पूरे पूर्वांचल के कांग्रेसजन मुस्तैद हो गए हैं। पीडि़त ग्रामीणों को मिलने में किसी तरह की दिक्कत न होने पाए इसके लिए कांग्रेसियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। इस दौरान किसी तरह की कोई बात न हो इसलिए पुलिस-प्रशासन के लोग भी लगे हुए हैं। सोमवार को एसपीजी के साथ ही पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने भी गांव का दौरा किया और कार्यक्रम स्थल को देखा।

गौरतलब है कि 17 जुलाई को भूमि पर कब्जा करने को लेकर उभ्भा गांव में नरसंहार हुआ था। उसमें दस लोगों की जान चली गई थी और 28 लोग घायल हो गए थे। घटना के दो दिन बाद ही 19 जुलाई को प्रियंका वाड्रा पीड़तिों से मिलने के लिए आ रही थीं। रास्ते में ही उन्हें नारायणपुर में रोक दिया गया। इस दौरान वह वहीं धरने पर बैठ गईं। इसके बाद उन्हें नारायणपुर से चुनार स्थित अतिथि गृह ले जाया गया। जहां उन्होंने रात गुजारी। वहीं पहुंची उभ्भा गांव की पीडि़त चार महिलाओं से मिलकर वापस चली गई थीं। जाते समय उनसे कहा था कि फिर वह गांव में आएंगी। उसके बाद एक बार 13 अगस्त को फिर से उनका दौरा उभ्भा गांव के लिए तय हुआ है। प्राथमिक विद्यालय परिसर में ही उनके एक घंटे तक रुकने, वहीं पर मृतकों के परिजनों व घायलों से मिलने, उनके साथ समय बीताने का कार्यक्रम रखा गया है।

सुरक्षा की दृष्टि से एसपीजी ने एक दिन पहले ही पहुंचकर स्कूल को अपने कब्जे में ले लिया। घोरावल एसडीएम डा. कृपाशंकर पांडेय, सीओ केजी सिंह आदि ने मौके पर पहुंचकर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया। यहां जिले के कई थानों की फोर्स लगाई गई है। अपर पुलिस अधीक्षक, सीओ की भी ड्यूटी लगी है। पीडि़तों से मुलाकात आसानी से हो सके इसके लिए मीरजापुर, वाराणसी व सोनभद्र के कांग्रेसी जुटे हुए हैं। जो सुरक्षा व्यवस्था आदि के बारे में पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों से जानकारी लिय। इसके साथ ही दोपहर बाद गांव पहुंचे उत्तर प्रदेश कांग्रेस विधानमंडल दल के नेता अजय कुमार लल्लू ने कार्यक्रमस्थल को देखा व स्थानीय कांग्रेसजनों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया।

शाहगंज होते उभ्भा जाएंगी प्रियंका

पुलिस अधीक्षण प्रभाकर चौधरी ने बताया कि वाराणसी से सड़क मार्ग से चलकर कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा वाराणसी-शक्तिनगर राज्यमार्ग से रॉबट् र्सगंज पहुंचेंगी। जहां से शाहगंज होते हुए घोरावल के उभ्भा गांव जाएंगी। जहां एक घंटे का कार्यक्रम है। बताया कि अभी तक उनके किसी अन्य कार्यक्रम का टाइम-टू-टाइम प्रोटोकाल नहीं आया है। जैसा अन्य कार्यक्रम होगा उसके अनुसार व्यवस्था की जाएगी। बताया कि सुरक्षा व्यवस्था को लेकर फोर्स मुकम्मल है। एसपीजी भी जिले में पहुंच चुकी है।

Leave a Comment