Share
राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश आ रहे रामनाथ कोविंद

राष्ट्रपति बनने के बाद पहली बार उत्तर प्रदेश आ रहे रामनाथ कोविंद

 नई दिल्ली। मोदी सरकार आने के साथ ही शुरू हुआ स्वच्छता अभियान जिसमें राष्ट्रपति भी शामिल होंगे। अगले एक पखवाड़े तक जनभागीदारी का एक अभूतपूर्व प्रयास होगा। नारा होगा ‘स्वच्छता ही सेवा’। संवैधानिक पद पर होने के बावजूद बृहत अभियान के तहत सामाजिक मुद्दों में वह सक्रिय होकर हिस्सा लेते रहेंगे। स्वच्छता अभियान के साथ-साथ बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ ऐसा ही अभियान है। महात्मा गांधी के जन्मदिन 2 अक्टूबर तक चलने वाले स्वच्छता के विशेष अभियान के क्रम में 15 सितंबर को खुद राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद कानपुर में एक सम्मेलन को संबोधित करेंगे। वहीं से वह जनता से अपील भी करेंगे।

लखनऊ। राष्ट्रपति बनने के बाद गुरुवार को पहली बार उत्तर प्रदेश आ रहे रामनाथ कोविंद के स्वागत की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं। उनकी सुरक्षा के कड़े बंदोबस्त किए गए हैं। राष्ट्रपति लखनऊ में अपने दो दिवसीय प्रवास के दौरान बाबा साहब भीम राव अंबेडकर व पंडित दीन दयाल उपाध्याय को नमन कर अपने दौरे की शुरुआत करेंगे।

15 मिनट स्वच्छता का संदेश देंगे राष्ट्रपति

 कानपुर। ‘स्वच्छता ही सेवा’ अभियान का शुभारंभ करने 15 सितंबर को आ रहे राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद सवा तीन घंटे कानपुर में रहेंगे। वह लखनऊ से शुक्रवार दोपहर 1.45 बजे चलकर 2.15 बजे ईश्वरीगंज गांव के हेलीपैड पर पहुंचेंगे और फिर वहां से 2.30 बजे मंच पर आएंगे। 15 मिनट तक वह स्वच्छता को सेवा के रूप में अपनाने का संदेश देशवासियों को देंगे। राष्ट्रपति भवन से प्रोटोकॉल जारी कर दिया गया है। हर घर में शौचालय बनवाने को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शुरू किए गए स्वच्छ भारत मिशन से लोगों में जागरूकता आई है।

पिछले दिनों प्रधानमंत्री ने मन की बात में स्वच्छता को सेवा के रूप में अपनाने का संदेश दिया था। अब राष्ट्रपति इसकी शुरुआत क्रांतिकारियों की धरती बिठूर के ईश्वरीगंज गांव से करेंगे। केंद्रीय पेयजल एवं स्वच्छता मंत्री उमा भारती केंद्र सरकार के स्वच्छ भारत मिशन की सफलता की कहानी बताएंगी। वह सात मिनट भाषण देंगी। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आठ मिनट तक कार्यक्रम को संबोधित करेंगे। राज्यपाल रामनाईक सात मिनट लोगों को संबोधित करेंगे।

Leave a Comment