Share
राहुल गांधी का रक्षा मंत्री पर बयान देना पड़ा भारी, राष्ट्रीय महिला आयोग ने राहुल गांधी को भेजा नोटिस

राहुल गांधी का रक्षा मंत्री पर बयान देना पड़ा भारी, राष्ट्रीय महिला आयोग ने राहुल गांधी को भेजा नोटिस

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण पर बयान देकर मुश्किलों में फंसते हुए नजर आ रहे हैं। जिसपर राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लेते हुए राहुल गांधी को कारण बताओ नोटिस भेजा है। दरअसल, राहुल गांधी ने राफेल मुद्दे पर केंद्र सरकार का घेराव करते हुए कहा था कि प्रधानमंत्री एक महिला (रक्षामंत्री) के पीछे छुप रहे हैं। जिसके बाद पीएम मोदी, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह समेत कई नेताओं ने उनकी कड़े शब्दों में आलोचना की थी।

इस बयान की राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष रेखा शर्मा ने भी कड़ी निंदा की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा, ‘राहुल गांधी का बयान- ‘एक महिला से कहा मेरी रक्षा कीजिए?’ महिला विरोधी है। क्या वह सोचते हैं कि एक महिला कमजोर है? राहुल इतने बड़े लोकतांत्रिक देश की रक्षामंत्री को कमजोर कह रहे हैं।’

इसको लेकर राष्ट्रीय महिला आयोग ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को नोटिस भेजा है। राहुल गांधी को नोटिस जारी करते हुए राष्ट्रीय महिला आयोग ने कहा है, ‘उनकी टिप्पणी महिला-विरोधी, आक्रामक, अनैतिक तथा सामान्य रूप से महिलाओं के मान एवं प्रतिष्ठा के विरुद्ध असम्मान ज़ाहिर करती है।’

जानिए राहुल गांधी ने क्या कहा था

राहुल गांधी ने अपनी एक रैली के दौरान कहा था कि प्रधानमंत्री ने संसद में अपने बचाव में एक महिला का सहारा लिया ,क्योंकि वह खुद की रक्षा नहीं कर सकते थे। राहुल ने कहा, ’56 इंच का सीना वाले चौकीदार भाग खड़े हुए और एक महिला सीतारमण जी से कहा मेरी रक्षा करें। मैं खुद की रक्षा करने में समर्थ नहीं हूं। ढाई घंटे तक महिला उनकी रक्षा नहीं कर सकी। मैंने तो सीधा सा सवाल किया था, जिसका हां या ना में उत्तर था, लेकिन वह उत्तर नहीं दें सकीं।’

इसके बाद पीएम मोदी पर पलटवार करते हुए राहुल गांधी ने गुरुवार देर शाम ट्वीट किया, ‘बातें न घुमाइए, मर्द बनिए और मेरे सवालों का जवाब दीजिए।’ इन्हीं दो टिप्पणियों पर राष्ट्रीय महिला आयोग ने स्वत: संज्ञान लिया और राहुल गांधी को कारण बताओ नोटिस भेजा

मोदी ने किया पलटवार

राहुल गांधी के इस आरोप के बाद प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस नेताओं पर देश की महिलाओं का अपमान करने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि लोकसभा में राफेल सौदे पर तथ्यों के साथ पहुंचीं रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने विपक्ष की तथ्यात्मक ढंग से धज्जियां उड़ा दीं। राहुल का नाम लिए बगैर उन्होंने कहा वह महिला रक्षा मंत्री का अपमान करने पर तुले हैं। यह एक महिला का नहीं पूरे भारत की नारी शक्ति का अपमान है। इसके लिए इन गैर-जिम्मेदार नेताओं को कीमत चुकानी होगी। यह गर्व का विषय है कि पहली बार एक महिला देश की रक्षा मंत्री बनी है।

 

Leave a Comment