Share
बिजली दरों में वर्तमान के सापेक्ष औसतन 1.37 फीसद की कमी, उपभोक्ताओं को राहत

बिजली दरों में वर्तमान के सापेक्ष औसतन 1.37 फीसद की कमी, उपभोक्ताओं को राहत

देहरादून: उत्तराखंड विद्युत नियामक आयोग (यूईआरसी) ने बिजली के दाम बढ़ाने से परहेज किया। इससे राज्य के 20 लाख बिजली उपभोक्ताओं को बड़ी राहत मिली। वर्ष 2018-19 के टैरिफ में बिजली दरों में वर्तमान के सापेक्ष औसतन 1.37 फीसद (सात पैसे) की कमी की गई है। सिर्फ 201 से 300 यूनिट और 400 यूनिट से अधिक बिजली खर्च करने वाले उपभोक्ताओं पर क्रमश: तीन और सात पैसे प्रति यूनिट का भार बढ़ा है। इसके अतिरिक्त शादी और अन्य आयोजनों को कनेक्शन लेने वाले उपभोक्ताओं के लिए भी बिजली सात पैसे महंगी हुई है।

अन्य सभी श्रेणियों में औसतन बिजली के दामों में कटौती ही हुई है। बुधवार को यूईआरसी अध्यक्ष सुभाष कुमार ने नई दरों का एलान किया। निगमों ने आयोग को 21 फीसद से अधिक की वृद्धि का प्रस्ताव दिया था।

व्यावसायिक श्रेणी की औसत दर में 14 पैसे प्रति यूनिट तो एलटी इंडस्ट्री (छोटे उद्योग)और एचटी इंडस्ट्री श्रेणी (भारी उद्योग) में क्रमश: 22 और 20 पैसे प्रति यूनिट की कटौती की गई है। नई दरें एक अप्रैल से लागू हो जाएंगी। उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड (यूपीसीएल), पावर ट्रांसमिशन कारपोरेशन ऑफ उत्तराखंड लिमिटेड (पिटकुल), उत्तराखंड जल विद्युत निगम लिमिटेड (यूजेवीएनएल) और स्टेट लोड डिस्पैच सेंटर (एसएलडीसी) ने कुल 21.15 फीसद की वृद्धि करने का प्रस्ताव दिया था।

यूईआरसी अध्यक्ष सुभाष कुमार ने बताया कि पिछले साल 29 मार्च, 2017 को टैरिफ में 5.72 फीसद की वृद्धि की गई थी। इसके बाद अगस्त में संशोधित टैरिफ जारी हुआ था और 3.81 फीसद की वृद्धि और की गई थी। अध्यक्ष सुभाष कुमार ने बताया कि नए टैरिफ में सभी खर्चों को समायोजित कर दरें जारी की गई हैं। इस वर्ष टैरिफ में कोई संशोधन नहीं होगा। बताया कि वर्तमान में बिजली की औसत दर 5.11 रुपये प्रतियूनिट है और वर्ष 2018-19 में यह दर 5.04 रुपये प्रतियूनिट होगी।

औसत बिजली दरें

श्रेणी———बिजली दरें (रुपये प्रतियूनिट)

बीपीएल————-1.91

घरेलू—————–4.04

अघरेलू—————5.83

एलटी इंडस्ट्री——-5.50

एचटी इंडस्ट्री——-5.53

Leave a Comment