Share
आपदा के छह साल बाद केदारनाथ में बना नया कीर्तिमान, यात्रियों का आंकड़ा पहुंचा सात लाख पार

आपदा के छह साल बाद केदारनाथ में बना नया कीर्तिमान, यात्रियों का आंकड़ा पहुंचा सात लाख पार

Chardham Yatra: आपदा के छह साल बाद केदारनाथ में बना नया कीर्तिमान, यात्रियों का आंकड़ा पहुंचा सात लाख पार

शनिवार को केदारनाथ दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या दोपहर तक बीते वर्ष के आंकड़े को पार कर गई थी। विदित हो कि केदारनाथ की यात्रा चार धामों में सबसे कठिन यात्रा है।

रुद्रप्रयाग, केदारनाथ दर्शनों को आने वाले यात्रियों की संख्या ने इस वर्ष नया कीकीर्तिमान गढ़ दिया है। यात्रा के इतिहास में सर्वाधिक सात लाख 32 हजार 241 यात्री बीते वर्ष पूरे सीजन में केदारनाथ पहुंचे थे। लेकिन, इस वर्ष महज 45 दिन में ही यह रिकॉर्ड ध्वस्त हो गया। जबकि, अभी यात्रा में अभी चार महीने से अधिक का समय शेष है।

शनिवार को केदारनाथ दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या दोपहर तक बीते वर्ष के आंकड़े को पार कर गई थी। विदित हो कि केदारनाथ की यात्रा चार धामों में सबसे कठिन यात्रा है। यात्रियों को न केवल 16 किमी का सफर पैदल तय करना पड़ता है, बल्कि यहां की भौगोलिक परिस्थितियां भी काफी विकट है। यहां ऑक्सीजन की भारी कमी होने के कारण यात्रियों स्वास्थ्य संबंधी दिक्कतों का भी सामना करना पड़ता है। बावजूद इसके इस वर्ष केदारनाथ दर्शनों को यात्रियों का सैलाब उमड़ रहा है।

वर्ष 2013 की आपदा से पूर्व केदारनाथ दर्शन करने वाले यात्रियों की संख्या बदरीनाथ की तुलना में लगभग आधा रहती थी। लेकिन केदारपुरी के नए कलेवर में निखरने से यहां यात्रियों की संख्या में भारी बढ़ोत्तरी हुई है। साथ ही यात्री सुविधाओं के विकास से देश-दुनिया में सुरक्षित यात्रा का भी संदेश जा रहा है।

यह भी उल्लेखनीय है कि यात्रा के इतिहास में पहली बार केदारनाथ दर्शनों को एक ही दिन में 36 हजार से अधिक यात्री केदारनाथ पहुंचे। इससे पहले बीते वर्ष कपाटोद्घाटन पर 27 हजार से यात्री केदारनाथ पहुंचे थे। जिलाधिकारी मंगेश घिल्डियाल का कहना कि जिस गति से केदारनाथ यात्रा चल रही है, वह भविष्य के लिए संभावनाओं के तमाम द्वार खोलेगी। यात्रा बढ़ने से केदारघाटी की आर्थिकी भी संवर रही है और स्थानीय व्यापारियों में जबर्दस्त उत्साह है।

वर्षवार केदारनाथ पहुंचे यात्री

  • वर्ष——यात्रियों की संख्या
  • 2019——733000 (22 जून दोपहर तक)
  • 2018——732241
  • 2017——471235
  • 2016——309533
  • 2015——154430

 

Leave a Comment