Share
लोगों को जागरूक करने के लिए चलाया विशेष अभियान, शौचालयों को रचनात्मक रूप से सजाने पर सरकार करेगी पुरस्कृत

लोगों को जागरूक करने के लिए चलाया विशेष अभियान, शौचालयों को रचनात्मक रूप से सजाने पर सरकार करेगी पुरस्कृत

देहरादून। गांवों को खुले में शौच से मुक्ति दिलाने के लिए सरकार हर स्तर पर प्रयास कर रही है। इसी क्रम में पेयजल एवं स्वच्छता मंत्रालय ने लोगों को जागरूक करने के लिए एक विशेष अभियान चलाया है। इसके तहत शौचालय को पेंट करने व आकर्षक तरीके से सजाने वाले को भारत सरकार द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा। दून की 460 ग्राम पंचायतों में भी इस अभियान के तहत ग्राम प्रधानों को प्रतियोगिता में शामिल होने के लिए जागरूक किया जा रहा है। स्वजल विभाग को इस ‘स्वच्छ सुंदर शौचालय’ प्रतियोगिता का नोडल बनाया गया है। यह प्रतियोगिता एक जनवरी से शुरू कर दी गई है जो 31 जनवरी तक चलेगा। इसके तहत ग्रामीणों को अपने शौचालयों को पेंट करके, रचनात्मक रूप से सजाकर उसके फोटो विभाग को भेजने होंगे।

दून में जिलाधिकारी और मुख्य विकास अधिकारी के निर्देशन में अभियान को सफल बनाने के लिए विभाग की ओर से प्रचार-प्रसार किया जा रहा है। डीडीओ प्रदीप पांडेय ने बताया कि ग्राम प्रधानों को पत्र, फोन आदि के माध्यम से सूचना दी जा रही है। ग्रामीणों को पेंट और सजावट सामग्री आदि उपलब्ध कराई जा रही है। प्रतियोगिता में शौचालयों को सुंदर पेंटिंग आदि से सजाकर स्वच्छता से जुड़े स्लोगन शामिल करने हैं।

फिर इनकी फोटो व्हाट्सएप और डाक के माध्यम से विभाग को भेजनी है। बताया कि इसमें स्वच्छ भारत मिशन के तहत बनाए गए शौचालय भी हिस्सा ले रहे हैं। स्कूली बच्चों की भी इसमें भूमिका होगी। बताया कि लोगों द्वारा फोटो भेजने का क्रम शुरू हो चुका है। इस अभियान की निगरानी भारत सरकार द्वारा विशेष रूप से तैयार किए गए पोर्टल के माध्यम से की जा रही है। यह अभियान पूरे देश की 25 लाख ग्राम पंचायतों में चलाया जा रहा है।

राज्य से भेजी जाएंगी 15 सर्वश्रेष्ठ शौचालयों की तस्वीरें 

स्वजल विभाग ने बताया कि हर जिले से सुंदर शौचालय वाली पांच फोटो का चयन किया जाएगा, जिन्हें राज्य स्तर पर भेजा जाएगा। इसके बाद सर्वश्रेष्ठ 15 फोटो को मंत्रालय के पास भेजा जाएगा। इसके बाद भारत सरकार के स्तर पर गठित कमेटी द्वारा विजेताओं को चुना जाएगा। जिन्हें राष्ट्रीय स्तर पर आयोजित समारोह में सम्मानित किया जाएगा।

Leave a Comment