Share
राजकीय शिक्षक संघ ने आज से किया आंदोलन तेज, की शिक्षा निदेशालय में तालाबंदी

राजकीय शिक्षक संघ ने आज से किया आंदोलन तेज, की शिक्षा निदेशालय में तालाबंदी

देहरादून: शिक्षा विभाग की तमाम सख्ती के बावजूद राजकीय शिक्षक संघ पीछे हटने को तैयार नहीं है। संघ ने आज से अपना आंदोलन तेज कर दिया है। विभाग व सरकार पर आंदोलन को गंभीरता से न लेने और शिक्षकों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए शिक्षा निदेशालय में तालाबंदी की। साथ ही शिक्षक आमरण अनशन पर बैठ गए। इस दौरान शिक्षकों के धरने में पहुंचे शिक्षा निदेशक आर के कुंवर से वार्ता चल ही रही थी तभी प्रांतीय महामंत्री डॉक्टर सोहन माजिला ने अपनी कमीज फाड़ दी। वहीं, मयूर विहार स्थित मुख्य शिक्षाधिकारी कार्यालय पर शिक्षकों ने गुपचुप ढंग से ताला लगा कर गायब हो गए। बाद में ताला तोड़कर कार्यालय खोला गया।

शिक्षा निदेशालय ननूरखेड़ा में राजकीय शिक्षक संघ 18 सूत्रीय मांग को लेकर आंदोलित है। संघ का क्रमिक अनशन मंगलवार को आमरण अनशन में बदल गया। संगठन के प्रांतीय पदाधिकारियों के स्थानांतरण की भी संगठन ने कड़ी भर्त्‍सना की। स्थानांतरण आदेश निरस्त न होने पर प्रदेशव्यापी आंदोलन की चेतावनी दी है।

संघ के प्रांतीय अध्यक्ष केके डिमरी ने कहा कि शिक्षा निदेशक की ओर से नोटिस जारी किया गया है। यह शिक्षकों का उत्पीड़न है। संघ व शिक्षक इससे नहीं डरेंगे। यदि उनकी मांगों पर सही समय पर कार्रवाई कर दी जाती तो शिक्षक आंदोलन करते ही क्यों। इस दौरान प्रांतीय महामंत्री डॉ. सोहन सिंह माजिला, प्रांतीय संयुक्त योगेश घिल्डियाल, गढ़वाल मंडल अध्यक्ष रविंद्र राणा, जनपद अध्यक्ष पौड़ी जयदीप रावत, पूर्व प्रांतीय संयुक्त मंत्री सुंदर कुंवर आदि उपस्थित रहे।

 जूहा शिक्षक संघ भी समर्थन में 

जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के एक प्रतिनिधिमंडल ने उक्त मसले पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल से मुलाकात की। उन्होंने कहा कि राजकीय शिक्षक संघ शांतिपूर्ण ढंग से धरना-प्रदर्शन कर रहा है। केवल प्रांतीय व जनपद स्तरीय पदाधिकारी चरणबद्ध ढंग से क्रमिक अनशन में शामिल हो रहे हैं। जिससे पठन-पाठन में भी कोई व्यवधान नहीं पड़ रहा है। ऐसे में पदाधिकारियों का स्थानांतरण न्यायसंगत नहीं है। उन्होंने स्थानांतरण आदेश निरस्त करने की मांग की। इस दौरान जिलाध्यक्ष रघुबीर सिंह पुंडीर, जिला महामंत्री सूरज चंद्र मंद्रवाल आदि उपस्थित रहे।

सीईओ कार्यालय पर तालाबंदी से खुद को अलग किया

हरिद्वार में राजकीय शिक्षकों ने प्रांतीय नेतृत्व के आह्वान पर सीईओ कार्यालय पर तालाबंदी से खुद को अलग कर लिया है। संघ के जिलाध्यक्ष उत्तम कुमार शर्मा और महामंत्री रवींद्र रोड का कहना है राजकीय शिक्षक संघ हरिद्वार प्रांतीय कार्यकारिणी के आह्वान पर 31 जुलाई को मुख्य शिक्षा अधिकारी कार्यालय पर तालाबंदी के कार्यक्रम में कोई सहयोग नहीं करेगा। हमारे समस्त अध्यापक अध्यापिकाएं पूरी तरह से आंदोलन से अलग रह कर अपने अपने विद्यालयों में पूर्ण मनोयोग से शिक्षण कार्य करेंगे। जिला इकाई ने प्रात स्तर के कुछ नेताओं के मनमानी के चलते इससे जिला इकाई को अलग कर लिया है।

Leave a Comment