Share
मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा-राफेल की फाइलें आगे न बढ़ाना कांग्रेस की विफलता

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा-राफेल की फाइलें आगे न बढ़ाना कांग्रेस की विफलता

देहरादून। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि कांग्रेस भवन के पास हुई घटना ठीक नहीं है। पार्टी कार्यकर्ताओं को ऐसे घटना की पुनरावृत्ति नहीं करनी चाहिए। राफेल पर कांग्रेस 10 सालों से कुंडली मारे थी। ऐसा लग रहा कि कांग्रेस राफेल को लेकर मामा-भांजे और दामाद की तलाश में थी।

कांग्रेस भवन में भाजपा और कांग्रेस कार्यकर्ताओं के बीच हुए विवाद पर मुख्यमंत्री ने महानगर दफ्तर में दो टूक कहा कि ऐसी घटना ठीक नहीं है। हालांकि मुख्यमंत्री ने कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि कांग्रेस मुद्दा विहीन हो गई है। एक मुद्दा था, जिसे सुप्रीम कोर्ट ने भी क्लीनचिट दे दी है। देश की सुरक्षा के लिए राफेल की मांग की जा रही थी, लेकिन विफलता के चलते कांग्रेस दस साल से इस पर कुंडली जमाए रही। राफेल की फाइलें आगे न बढ़ाना कांग्रेस की विफलता है।

मुख्यमंत्री ने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि या तो कांग्रेस दामाद ढूंढ रही थी, या फिर मामा-भांजा। उन्होंने कहा कि बयानबाजी कर जनता का ध्यान भटकाया जा रहा है। संवेदनशील मुद्दे पर इस तरह का रुख अपनाने से कांग्रेस की मानसिकता भी जाहिर होती है।

उधर, महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने कहा कि हाल ही में भाजपा में शामिल हुए एक कार्यकर्ता अति उत्साह से आगे आया। इस कार्यकर्ता को धरना-प्रदर्शन के दौरान संयम बरतने तथा अनुशासित रहने की हिदायत दी गई है। मुद्दाविहीन कांग्रेस झूठ बोलकर हत्या कराने और धमकी देने जैसे आरोप लगाकर जनता का ध्यान भटकाने का प्रयास कर रही हैं।

कांग्रेस परिसर में नहीं गए भाजपाई 

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट का कहना है कि यह पार्टी का राष्ट्रीय कार्यक्रम था। पार्टी का कोई भी कार्यकर्ता कांग्रेस भवन के भीतर नहीं गया। कांग्रेसियों ने भाजपा के कार्यकर्ताओं को उकसाने का काम किया। राजनीति में गाली-गलौज और झगड़े की कोई जगह नहीं होनी चाहिए। सभी को मर्यादित व्यवहार करना चाहिए। प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए फोटो, वीडियो और ऑडियो क्लीपिंग देखी जा रही हैं।

भाजपा का राहुल गांधी के विरुद्ध कलेक्ट्रेट में प्रदर्शन

राफेल डील में केंद्र सरकार को सुप्रीम कोर्ट की क्लीन चिट मिलने के बावजूद राहुल गांधी की केंद्र विरोधी बयानबाजी को लेकर शुरू हुई भाजपा-कांग्रेस की रार थमने का नाम नहीं ले रही। भाजपा ने राफेल पर कांग्रेस राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पर झूठ बोलने का आरोप लगाया है।

भाजपाइयों ने उन्होंने राहुल गांधी का पुतला दहन कर जिलाधिकारी कार्यालय में सांकेतिक प्रदर्शन किया। जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन भी भेजा गया। इधर, कांग्रेस भवन में हुई घटना को लेकर भाजपा पदाधिकारियों की बैठक हुई। बैठक में कांग्रेस को घेरने की रणनीति पर विचार-विमर्श हुआ।

जिलाधिकारी कार्यालय में प्रदर्शन के दौरान भाजपा पदाधिकारियों ने कहा कि  राहुल गांधी राफेल खरीद पर बेबुनियाद, निराधार, अतार्किक प्रश्न खड़ा कर जनता को गुमराह कर रहे हैं। मामले में भाजपा जन-जन के बीच जाकर राफेल की महत्ता के बारे में बताने और कांग्रेस के झूठ से भी लोगों को परिचित कराने का अभियान चलाएगी।

उसके बाद महानगर कार्यालय में महानगर अध्यक्ष विनय गोयल ने कहा कि कांग्रेस भवन में जो हंगामा हुआ, उसकी हकीकत जानी जा रही है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस गलत तरीके से इस मुद्दे को हवा दे रही है। इसका भाजपा पुरजोर विरोध कर जनता के सामने घटनाक्रम की सत्यता रखेगी।

बैठक में महामंत्री राजेंद्र सिंह ढिल्लो, जिला उपाध्यक्ष रतन सिंह चौहान, संजय सिंघल, कैलाश खन्ना, जोगेंद्र पुंडीर, आशीष नागरथ, सत्ये सिंह नेगी, अमिता सिंह, श्याम पंत, आदित्य चौहान, राजपाल पयाल, राजीव उनियाल आदि मौजूद थे।

Leave a Comment