Share
विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार

विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर ठगी करने वाला गिरफ्तार

देहरादून। विदेश में नौकरी दिलाने के नाम पर 28 युवकों से 24 लाख रुपये से अधिक की ठगी करने वाले कबूतरबाज को नेहरू कॉलोनी पुलिस ने बिजनौर के धामपुर से गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने सोमवार को आरोपित को कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

बता दें, अनिल कुमार निवासी सारथी विहार, हरिद्वार रोड ने शनिवार को नेहरू कॉलोनी थाने में जावेद कुरैशी निवासी 76 बंदूकचियान, थाना धामपुर, बिजनौर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। उनका आरोप था कि उनके और उनकी जान-पहचान के 28 लोगों को दुबई, कतर और कुवैत भेजने के नाम पर 24 लाख रुपये की ठगी कर ली गई है। बताया कि इंटरनेट पर नौकरी की तलाश करते हुए उन्हें एक जॉब पोर्टल दिखाई दिया। पोर्टल पर दिए मोबाइल नंबर पर बात की गई तो खुद को ट्रेवल एजेंसी का मालिक बताते हुए आरोपित ने कहा कि उसका बहुत बड़ा नेटवर्क है। वह कई लड़कों को विदेश में नौकरी दिलवा चुका है।

उसकी बातों में आकर नौ लड़कों ने कतर, 11 ने कुवैत व आठ ने दुबई जाने के लिए कुल 24 लाख रुपये ट्रेवल एजेंट के खाते में ट्रांसफर कर दिए। दरअसल, जब ट्रेवल एजेंट से पैसे की बात हुई तो उसने कहा कि वह कैश में रकम नहीं लेता। इस पर युवकों का विश्वास और बढ़ गया। तब इन सभी ने अनिल के खाते से रकम ट्रेवल एजेंट के खाते में ट्रांसफर कराई, ताकि उन्हें पता रहे कि वह किसे रकम भेज रहे हैं। अनिल ने बताया कि यह रकम अक्टूबर 2018 के पहले ही भेज दी गई थी।

सभी को अक्टूबर से मार्च के बीच में विदेश जाना था। सभी उस पल का इंतजार कर रहे थे, कब उनका वीजा और टिकट उनके पास आएगा। इस बीच कुछ लोगों ने ट्रेवल एजेंट से बात की तो उसने कहा कि उन्हें हवाई अड्डे पर ही वीजा और टिकट दे दिए जाएंगे। यह भी कहा कि रवाना होने से पहले उन सभी का दिल्ली में मेडिकल होगा। इस बीच ट्रेवल एजेंट ने बताया कि विदेश के लिए उनकी उड़ानें दिल्ली, जयपुर और मुंबई से हैं। मगर सभी इन शहरों के हवाई अड्डों पर पहुंचे तो वहां उन्हें कोई नहीं मिला। कई दिन इन शहरों में रुकने के बाद वह सभी देहरादून लौट आए।

एसओ नेहरू कॉलोनी दिलबर सिंह नेगी ने बताया कि शिकायत के आधार पर मामला दर्ज कर आरोपित की तलाश शुरू की गई। मोबाइल नंबर की लोकेशन के आधार पर आरोपित को धामपुर से गिरफ्तार कर लिया गया। बताया कि उसे सोमवार को अदालत में पेश किया गया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया। उन्होंने बताया कि मामले की कडिय़ों को जोड़ा जा रहा है। इसके आधार पर ठगी के शिकार अन्य लोगों की जानकारी भी जुटाई जा रही है।

पता मुंबई का धंधा बिजनौर में

जावेद शातिर किस्म का है। उसने इंटरनेट पर विदेश में नौकरी दिलाने के लिए कुरैशी टूर एंड ट्रेवल्स के नाम से एक पोर्टल बना रखा है। इसमें पता तो मुंबई का दिया गया था, मगर फोन नंबर पश्चिमी उत्तर प्रदेश का था। जब उसके नंबरों की सीडीआर निकाली गई तो पता चला कि जावेद काफी दिनों से बिजनौर में ही है, वह मुंबई गया ही नहीं।

कई लोग हुए ठगी के शिकार

जावेद ने उत्तराखंड ही नहीं, बल्कि मुंबई, पंजाब, आंध्र प्रदेश में भी जावेद पर ठगी के मुकदमे दर्ज हैं। वहीं उसके शिकार लोगों में हरियाणा, हिमाचल और उत्तर प्रदेश के लोग भी बड़ी संख्या में हैं।

Leave a Comment