Share

मंत्री के लिए तोडा पूजा पर लगा प्रतिबंध, मंदिर कमेटी ने पुजारियों को भेजा नोटिस

अल्मोड़ा: विश्व प्रसिद्ध जागेश्वर धाम के महामृत्युंजय मंदिर में शनिवार को प्रदेश के काबीना मंत्री यशपाल आर्य ने मंदिर के गर्भगृह में रूद्राभिषेक पूजा की। इससे गर्भगृह में पूजा पर लगा प्रतिबंध भी मंत्री के लिए तोड़ दिया गया। मामला सामने आने के बाद मंदिर कमेटी ने संबंधित पुजारियों को नोटिस जारी कर दिए हैं।शनिवार को परिवहन व समाज कल्याण मंत्री यशपाल आर्य जागेश्वर धाम पहुंचे। सुबह करीब साढ़े चार बजे मंदिर के कुछ पुजारियों ने उन्हें प्रतिबंध के बावजूद मंदिर के गर्भगृह में रूद्राभिषेक की पूजा कराई। करीब चालीस मिनट तक चली पूजा अर्चना के दौरान दूध, दही, घी, शहद मक्खन व अन्य पूजन सामग्री का भी प्रयोग किया। मंदिर कमेटी के सदस्यों को जब इस बात का पता चला तो हड़कंप मच गया। आनन-फानन में मंदिर कमेटी के पदाधिकारियों ने संबंधित पुजारियों को नोटिस भी जारी कर दिए हैं। उल्लेखनीय है कि जागेश्वर धाम के महामृत्युंजय मंदिर के गर्भगृह में रूद्राभिषेक पूजा को लगभग दो वर्ष पहले पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया था।

एएसआइ की रिपोर्ट के बाद लगा था प्रतिबंध 

महामृत्युंजय मंदिर में होने वाली पूजा के दौरान प्रयुक्त सामग्री से शिवलिंग को हो रहे नुकसान के बाद मंदिर कमेटी और जिला प्रशासन ने पहल की थी। इसी को देखते हुए दो साल पहले मंदिर के गर्भगृह में रूद्राभिषेक पूजा को प्रतिबंधित कर दिया गया था। शिवलिंग को रसायन युक्त सामग्री से हो रहे नुकसान की पुष्टि भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण विभाग (एएसआइ) देहरादून ने भी की थी।

पुजारियों को जारी कर दिए गए हैं नोटिस

भगवान भट्ट (प्रबंधक, जागेश्वर मंदिर कमेटी) का कहना है कि महामृत्युंजय मंदिर के गर्भगृह में रूद्राभिषेक पूजा पर पूरी तरह प्रतिबंध है। लेकिन इसके बाद भी कुछ पुजारियों द्वारा इस नियम का उल्लघंन कर यहां यह पूजा आयोजित कराई गई। सीसीटीवी की फुटेज से इस बात की पुष्टि हुई है। इस मामले में संबंधित पुजारियों को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। शीघ्र ही मंदिर कमेटी की बैठक कर इस मामले में कार्रवाई सुनिश्चित की जाएगी।

उपजिलाधिकारी से रिपोर्ट तलब की जा रही है

नितिन भदौरिया (अध्यक्ष जागेश्वर मंदिर प्रबंध समिति व जिलाधिकारी) का कहना है कि जागेश्वर मंदिर में नियमों के उल्लघंन का मामला मेरे संज्ञान में नहीं है। मैं अवकाश पर हूं, लेकिन फिर भी इस संबंध में उपजिलाधिकारी से रिपोर्ट तलब की जा रही है। जिसके बाद आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Leave a Comment