Share
SBI Global Ed-Vantage Loan के जरिए आप आसानी से विदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं

SBI Global Ed-Vantage Loan के जरिए आप आसानी से विदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं

नई दिल्ली । दुनिया में हर किसी का सपना होता है कि वह उच्च शिक्षा के लिए विदेश में जाकर पढ़े, लेकिन हर किसा का यह सपना पूरा नहीं हो पाता। आज के समय में एजुकेशन लोन की मदद से यह सपना आसानी से पूरा हो सकता है। जी हां आज हम आपको भारतीय स्टेट बैंक की तरफ से पेश किए जाने वाले SBI Global Ed-Vantage Loan के बारे में बता रहे हैं, जिसके जरिए आप आसानी से विदेश में उच्च शिक्षा ग्रहण कर सकते हैं और नौकरी लगने के बाद इस पैसे को आसानी से ईएमआई के जरिए चुका सकते हैं। आइए जानते हैं कैसे एसबीआई का यह एजुकेशन लोन ले सकते हैं और इसका प्रोसेस क्या है।

जरूरी बातें:

  • इस लोन के लिए आप ऑनलाइन अप्‍लाई कर सकते हैं।
  • इस लोन की ब्याज दर काफी आकर्षक हैं।
  • लोन अमाउंट 20 लाख से 1.5 करोड़ रुपये तक है।
  • आसानी से 15 सालों तक के समय में री-पेमेंट कर सकते हैं।
  • i20/Visa से पहले लोन की मंजूरी।
  • इनकम टैक्स में सेक्शन 80(ई) के तहत छूट मिलती है।
  • प्रोसेसिंग फीस 10 हजार रुपये है।

इन कोर्स के लिए ले सकते हैं लोन:

यूएसए, ब्रिटेन, कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, यूरोप, सिंगापुर, जापान, हांगकांग और न्यूजीलैंड जैसे देशों के संस्थानों/यूनिवर्सिटी की तरफ से पेश किसी भी विषय में रेगुलर ग्रेजुएट/पोस्ट ग्रेजुएट/ डॉक्टरेट कोर्स आदि कर सकते हैं।

क्या है शामिल:

कॉलेज/स्कूल/होस्टल की फीस शामिल है।

एग्जामिनेशन/लाइब्रेरी/लेबोरेटरी फीस शामिल है।

विदेश में स्टडी के लिए ट्रेवल का खर्च शामिल है।

किताबें/उपकरणों/उपकरणों/यूनिफोर्म/कंप्यूटर की खरीद का खर्च, अगर कोर्स पूरा करने के लिए आवश्यक अन्य किसी भी खर्च जैसे कि स्टडी टूर, प्रोजेक्ट वर्क, थीसिस आदि शामिल हैं। इस सब को कोर्स के दौरान ट्यूशन फीस का 20 फीसद ही होना चाहिए।

सिक्योरिटी:

जमानत सिक्योरिटी

थर्ड पार्टी (माता-पिता के अलावा) पेश की गई सिक्योरिटी भी शामिल है।

री-पेमेंट:

ब्याज और मूलधन को आपस में जोड़ा जाएगा और ईएमआई में कंवर्ट किया जाएगा।

कोर्स पूरा होने के 6 माह के बाद लोन री-पेमेंट शुरू होगा।

अधिकतम 15 सालों में लोन चुकाया जा सकता है।

जरूरी दस्तावेज:

  • आइडेंटिटी प्रूफ
  • एड्रेस प्रूफ
  • पासपोर्ट
  • एकेडमिक रिकॉर्ड:
  • 10वीं,12वीं, ग्रेजुएशन रिजल्ट और जहां एडमिशन लिया जा रहा है वहां के एंट्रेंस एग्जाम का रिजल्ट चाहिए।
  • प्रूफ ऑफ एडमिशन: कॉलेज/संस्थान की तरफ से एडमिशन के लिए ऑफर लेटर चाहिए।
  • कोर्स के खर्च का ब्यौरा
  • 2 पासपोर्ट आकार के फोटो

Leave a Comment