Share
दिसंबर तक हो जायेगा योजना सौभाग्य और डीडीयूजीजेवाइ का काम पूरा

दिसंबर तक हो जायेगा योजना सौभाग्य और डीडीयूजीजेवाइ का काम पूरा

देहरादून: केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (सौभाग्य) और दीन दयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना (डीडीयूजीजेवाइ) को पूरा करने के समय में तीन महीने कम कर दिए हैं। केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह ने निर्देश दिए हैं कि हर हाल में दिसंबर, 2018 तक काम पूरा कर लिया जाए। उन्होंने गुरुवार को दिल्ली में बिजली क्षेत्र की केंद्रीय योजनाओं की समीक्षा बैठक की, जिसमें उत्तराखंड से सचिव ऊर्जा राधिका झा और यूपीसीएल के निदेशक (परियोजना) एमके जैन ने हिस्सा लिया।

सौभाग्य के तहत सभी घरों में बिजली कनेक्शन दिया जाना है तो डीडीयूजेजीवाई में गांवों-तोक में बिजली पहुंचानी है और एग्रीकल्चर फीडर अलग किए जाने हैं। सचिव ऊर्जा राधिका झा ने बताया कि 94 में से अब सिर्फ 12 गांव बचे हैं, जिनमें बिजली नहीं है। इनमें 30 अप्रैल तक बिजली पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। दोनों योजनाओं के तहत शेष कार्य निर्धारित समय पर पूरा कर लिए जाएंगे। इंटीग्रेटेड पावर डेवलपमेंट स्कीम (आइपीडीएस) के कार्य प्रगति पर हैं और इन्हें भी दिसंबर तक पूरा कर लिया जाएगा। आरके सिंह ने कहा कि सौभाग्य योजना की प्रभावी मॉनिटरिंग की जाए, जिससे पारदर्शिता के साथ पात्रों को लाभ मिले।

जूून तक हो आरएपीडीआरपी की क्लोजिंग 

पुनर्गठित त्वरित विद्युत विकास योजना (आरएपीडीआरपी) को पूरा करने की समयावधि 31 मार्च थी, लेकिन अभी भी कई कार्य बाकी हैं। केंद्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) आरके सिंह ने कहा कि शेष कामों को पूरा करते हुए जून तक योजना की वित्तीय क्लोजिंग कर ली जाए।

50 हजार घरों में दिए कनेक्शन

उत्तराखंड में 3.52 लाख घरों में बिजली कनेक्शन नहीं है। सौभाग्य से 2.57 लाख घरों में बिजली कनेक्शन दिया जाएगा। शेष घर दीनदयाल उपाध्याय ग्राम ज्योति योजना से रोशन होंगे। यूपीसीएल के मुताबिक सौभाग्य के तहत अभी तक करीब 50 हजार लोगों को कनेक्शन दिए जा चुके हैं।

प्रीपेड मीटर पर करें फोकस 

केेंंद्रीय मंत्री ने कहा कि बिजली वितरण कंपनियां प्रीपेड मीटर पर फोकस करें। खासकर आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगों को इसके लिए जागरूक किया जाए। इससे इस वर्ग के लोग अपनी जेब को ध्यान में रखकर रिचार्ज कराएंगे और बिजली खपत करेंगे।

1150 में पड़ा एक प्रीपेड मीटर 

एनर्जी एफिसियंसी सर्विसेज लिमिटेड (ईईएसएल) ने उत्तर प्रदेश के लिए एक करोड़ प्रीपेड मीटर खरीदे हैं। इसमें एक मीटर 1150 रुपये का पड़ा। बैठक में चर्चा की गई कि अगर ईईएसएल सभी राज्यों की डिमांड के अनुसार मीटर खरीदेगा तो यह और सस्ता पड़ सकता है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अगर स्मार्ट और प्रीपेड फीचर्स वाला मीटर ज्यादा महंगा नहीं पड़ेगा तो इसकी ही खरीद पर गंभीरता पूर्वक विचार हो।

116 गांवों के हर घर में पांच मई तक कनेक्शन 

ग्राम स्वराज अभियान के तहत 14 अप्रैल से पांच मई तक प्रदेश के 116 गांवों में कैंप लगाकर सौभाग्य योजना के तहत बिजली कनेक्शन दिए जाएंगे। केंद्र सरकार की गाइडलाइन के मुताबिक, ऐसे गांवों में कैंप लगने हैं, जिसकी कुल आबादी एक हजार से ज्यादा हो और वहां अनुसूचित जाति-जनजाति की आबादी 50 फीसद से अधिक है। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि अभियान के तहत चिह्नित गांवों के हर घर में बिजली कनेक्शन लग जाना चाहिए। यूपीसीएल के निदेशक परियोजना एमके जैन ने बताया कि इस बाबत तैयारी पूरी कर ली गई हैं।

Leave a Comment