Share
लिफ्ट देकर गहने और नकदी ठगने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

लिफ्ट देकर गहने और नकदी ठगने वाले दो आरोपी गिरफ्तार

देहरादून: बस या टैक्सी का इंतजार कर रहे लोगों को लिफ्ट देकर उनके गहने और नकदी ठगने वाले दो आरोपितों को कोतवाली नेहरू कॉलोनी पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। उनसे ठगी का माल भी बरामद किया गया।

आरोपितों ने विगत 21 मई को हरिद्वार बाईपास पुरानी पुलिस चौकी से एक शिक्षिका को लिफ्ट देकर सामान चेकिंग का बहाना बनाकर सोने की चेन और दस हजार रुपये ठग लिए थे।

21 मई को शिक्षिका सरिता भट्ट पत्नी जितेंद्र भट्ट निवासी गुमानीवाला नेपाली फार्म जाने के लिए पुरानी बाईपास चौकी के पास बस का इंतजार कर रही थी। इसी दौरान एक आदमी उनके पास खड़ा हो गया। उसने कहा कि उसे हरिद्वार जाना है। कुछ देर बाद एक व्यक्ति कार लेकर उनके पास आया कहा कि वह हरिद्वार जा रहा है।

इस पर दोनों कार में बैठ गए। खुद को समाज कल्याण विभाग में कार्यरत और कार सरकारी बता उसने कहा कि कार की चेकिंग होनी है। जिसके बाद उसने कीमती समान व पैसे बेग में रखने को कहा। कुछ आगे पहुंचने पर दोनों ने महिला को उतारकर कहा कि वह उसका बेग चेक कराकर लाते हैं, लेकिन वह फरार हो गए।

शिक्षिका के मुताबिक उसके बेग में एक सोने की चेन और दस हजार रुपये थे। सूचना पर कोतवाली नेहरू कॉलोनी पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की तलाश शुरू कर दी।

कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर राजेश शाह ने बताया कि टीम का गठन कर घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाल कर ठगों के कार व हुलिए की पहचान के प्रयास किए गए। जांच में कार दिल्ली नंबर की निकली। टीम को दिल्ली भेजा गया तो पता चला कि कार नसीम के नाम पंजीकृत है।

नसीम की कॉल डिटेल से पता चला कि वह घटना के दिन देहरादून में था। जांच की गई तो पता चला कि उसने कार देहरादून निवासी आबिद जलील को बेच दी है। आबिद ने पूछताछ में बताया कि उसने भी कार मौहमद हारून पुत्र लल्ला निवासी ग्राम सकानू थाना अलापुर जिला बदायूं उत्तर प्रदेश को बेच दी है। जिसके बाद पुलिस मौहम्मद हारुन की तलाश में जुट गई।

मुखबिर से सूचना मिली कि दो लोग कार लेकर किसी घटना को अंजाम देने की फिराक में कारगी चौक से पुरानी बाईपास के मध्य घूम रहे है। जिस पर पुलिस ने पुरानी बाईपास चौकी पर चेकिंग शुरू कर दी। पुलिस को उक्त दिल्ली नंबर की कार दिखी तो उसे रोका, उसमें दो लोग बैठे थे। पूछताछ की गई तो उक्त दोनों की पहचान मोहम्मद हारुन पुत्र फैज मोहम्मद व वली मोहम्मद उर्फ लल्ला पुत्र लाल खा दोनों निवासी ग्राम सकानू थाना अलापुर, जिला बदायूं, उत्तर प्रदेश हाल निवासी गोरखपुर चौक, आरकेडि़या ग्राट के रूप में हुई।

सख्ती से पूछताछ पर उन्होंने 21 मई को शिक्षिका के साथ हुई ठगी में अपना हाथ कबूला। जिसके बाद उनके कब्जे से शिक्षिका से ठगी सोने की चेन व ढाई हजार रुपये बरामद किए गए। इंस्पेक्टर राजेश शाह ने बताया कि आरोपित बस स्टैंड आदि जगहों पर घूमते हैं और बसों आदि का इंतजार कर रहे लोगों को लिफ्ट देने का बहाना बनाकर उनके साथ ठगी करते हैं।

Leave a Comment