Share
उत्तराखंड की सीनियर टीम राज्य टीम से जुड़ने के लिए बहा रही पसीना

उत्तराखंड की सीनियर टीम राज्य टीम से जुड़ने के लिए बहा रही पसीना

देहरादून: उत्तराखंड टीम को रणजी के पांच मुकाबले अपने घर में खेलने की अनुमति मिलने के बाद बीसीसीआइ ने मैच कराने की तैयारियों को लेकर कवायद शुरू कर दी है। वहीं, राज्य की टीम में चयन के लिए खिलाड़ी खूब पसीना बहा रहे हैं।

बीसीसीआइ के पिच क्यूरेटर सुनील चौहान ने रायपुर स्थित राजीव गांधी इंटरनेशनल क्रिकेट स्टेडियम पहुंच कर पिच का जायजा लिया। स्टेडियम अधिकारियों के मुताबिक सुनील ने स्टेडियम की पिच को तैयार बताया है। इसकी रिपोर्ट वह मुंबई जाकर बीसीसीआइ को सौपेंगे।

निरीक्षण के दौरान सुनील ने स्टेडियम में बनी पांचों मुख्य पिचों का जायजा लिया। स्टेडियम के अधिकारियों के मुताबिक क्यूरेटर सुनील ने पिचों को लेकर संतोष जताया। वहीं उन्होंने स्टेडियम के क्यूरेटर को पिच से संबंधित निर्देश भी दिए।

स्टेडियम के निर्माण के दौरान भी क्यूरेटर सुनील चौहान निरंतर स्टेडियम का दौरा करते थे। स्टेडियम की मुख्य पिच और प्रैक्टिस एरिया सुनील ने अपनी मौजूदगी में ही बनवाया है। सुनील के अचानक स्टेडियम के निरीक्षण को बीसीसीआइ के घरेलू सत्र के मैचों की तैयारी को लेकर जोड़ा जा रहा है।

एक नवंबर से घरेलू सत्र में रणजी ट्रॉफी का आयोजन होना है, जिसमें उत्तराखंड टीम को पांच मुकाबले अपने घर में खेलने हैं। राज्य में दून स्थित एकमात्र अंतरराष्ट्रीय स्तर का क्रिकेट स्टेडियम है, जिसमें रणजी मैचों के आयोजन तय माने जा रहे हैं। निरीक्षण के दौरान स्टेडियम के प्रबंधक विपिन आहलूवालिया, प्रबंधक जनसंपर्क मानव भंडारी आदि मौजूद रहे।

राज्य टीम से जुड़ने के लिए खिलाड़ी बहा रहे पसीना

उत्तराखंड की सीनियर टीम में चयनित होने के लिए राज्य के खिलाड़ी खूब पसीना बहा रहे हैं। सीनियर टीम के चयन ट्रायल में हिस्सा लेकर खिलाड़ी टीम का हिस्सा बनना चाहते हैं। इसके लिए एक-दूसरे से बेहतर प्रदर्शन करने के लिए खिलाड़ी दून की विभिन्न ऐकेडमियों में ट्रेनिंग ले रहे हैं।

विजय हजारे ट्रॉफी के लिए उत्तराखंड की सीनियर टीम चयन को अभिमन्यु क्रिकेट ऐकेडमी में 27 से 30 अगस्त तक ट्रायल रखे गए हैं। चार दिवसीय ट्रायल में प्रदर्शन के आधार पर टीम के लिए संभावित 25 खिलाड़ियों का चयन किया जाएगा।

इसके बाद सात से 17 सितंबर तक कैंप का आयोजन कर 15 सदस्यों की टीम को विजय हजारे ट्रॉफी खेलने के लिए गुजरात भेजा जाएगा। अपने राज्य से खेलने की आस में राज्य के खिलाड़ियों ने सालों इंतजार किया है। साथ ही दूसरे राज्यों में जाकर भी अपनी किस्मत आजमाई है। अब जब अपने राज्य से खेलने का मौका मिल रहा है तो खिलाड़ी दिन-रात एक कर पसीना बहा रहे हैं।

घरेलू क्रिकेट में अच्छा खेल दर्शाने वाले खिलाड़ी करनवीर सिंह, सन्नी राणा, वैभव पंवार, वैभव भट्ट, भानु प्रताप, धनराज, अग्रिम तिवारी, मयंक मिश्रा, नीरज सैनी, आशीष जोशी, आशीष कुमार आदि प्रैक्टिस कर ट्रायल में शामिल होकर टीम का हिस्सा बनने के लिए तैयार हैं।

Leave a Comment