Share
विकलांग बेटे के साथ पिता ने फांसी लगायी

विकलांग बेटे के साथ पिता ने फांसी लगायी

मध्यप्रदेश (सागर)। मोतीनगर थाना क्षेत्र के पंडापुरा में बीती रात विकलांग बेटे के साथ पिता ने भी फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक देवेंद्र सुरेलिया उम्र 48 साल की पेंट की जेब में मिले सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी और बेटे की देखरेख न होने का कारण बताया गया है। पिता-पुत्र के शव को मंगलवार दोपहर गोपालगंज शमशान घाट में अंतिम संस्कार किया गया। एक साथ पिता-पुत्र की मौत ने क्षेत्र के लोगों को झकझोर दिया।

देवेंद्र मूलरूप से गोपालगंज वार्ड के निवासी हैं। तीन भाईयों में छोटे थे। गैस एजेंसी में नौकरी करते थे। एक साल से भाईयों से अलग होकर पंडापुरा में मकान बनाकर रहने लगे थे। उनका पहली पत्नी से बेटा कौशिक उम्र 17 साल जन्म से पोलियोग्रस्त था।

पहली पत्नी को करीब 10 साल पहले निधन हो गया था। दूसरी पत्नी रेखा के दो बच्चे हैं। परिजनों के मुताबिक रेखा सुरेलिया सोमवार शाम रिश्तेदार के यहां खुरई रोड स्थित भाग्योदय तीर्थ अस्पताल के पास गई थी।

रात करीब 9 बजे घर आकर देखा तो दरवाजे अंदर से बंद थे। उन्होंने पड़ौसी की मदद से दरवाजा खुलवाया तो अंदर दहलान में पति देवेंद्र व कौशिक फांसी के फंदे पर झूलते मिले, पास में कुर्सी रखी थी। उन्होंने दोनों को रस्सी काटकर फांसी के फंदे से उतारा। पुलिस व परिजनों को घटना की सूचना दी।

जेब से मिला सुसाइड नोट

मोतीनगर थाने के एसआई केके हाशमी ने बताया मृतक देवेंद्र की पेंट की जेब से सुसाइड नोट मिला है, जिसमें बेटे सहित स्वयं आत्महत्या करने का कारण परिवार में आर्थिक तंगी और मेरे मरने के बाद बेटे की परवरिश न किए जाने जैसे कारणों का उल्लेख किया गया है।

दूसरी ओर मृतक देवेंद्र के बड़े भाई राजेंद्र सुरेलिया ने भी सुसाइड नोट मिलने की पुष्टि की है। उसमें उल्लेख किया है कि हम एक-दूसरे के बिना नहीं रह सकते, इसलिए साथ-साथ मौत को गले लगा रहे हैं। मंगलवार सुबह पुलिस ने मेडिकल कॉलेज में दोनों शवों का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों को सौंप दिया। दोपहर बाद गोपालगंज शमशान घाट में पिता-पुत्र के शव का अलग-अलग दाह संस्कार किया गया।

 

Leave a Comment