Share
हेलीकॉप्टर से आने वाले यात्री के नहीं होंगे वीआइपी दर्शन, लाइन में होंगे खड़े

हेलीकॉप्टर से आने वाले यात्री के नहीं होंगे वीआइपी दर्शन, लाइन में होंगे खड़े

रुद्रप्रयाग: इस बार हेलीकॉप्टर से केदारनाथ आने वाले यात्री बाबा के वीआइपी दर्शन नहीं कर पाएंगे। उन्हें आम भक्तों की तरह लाइन में लगकर ही दर्शन करने होंगे। साथ ही मंदिर में फर्जी तरीके से वीआइपी दर्शन करने वालों पर भी पुलिस पूरी तरह रोक लगाएगी।

इसके अलावा यात्री बाबा केदार के व्यवस्थित रूप से दर्शन कर सकें, इसके लिए मंदिर के अंदर की व्यवस्थाएं इस बार पुलिस संभालेगी। अब तक मंदिर समिति के पास ही यह जिम्मा था। लेकिन, बीते वर्ष के अनुभवों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया।

पुलिस कप्तान प्रह्लाद नारायण मीणा ने पत्रकारों से बातचीत में यह जानकारी दी। बताया कि केदारनाथ मंदिर में दर्शनों के दौरान देश-विदेश से आने वाले भक्तों को भारी अव्यवस्था झेलनी पड़ती है। लाइन व्यवस्थित न होने के कारण मंदिर के अंदर धक्का-मुक्की होती है, जिससे कई बार भक्त चोटिल तक हो जाते हैं।

लिहाजा इस बार मंदिर के अंदर व्यवस्था बनाने में पुलिस योगदान करेगी। ताकि यात्री सुकून के साथ बाबा के दर्शन कर सकें। एसपी ने यह भी कहा कि वीआइपी दर्शनों की आड़ में कई लोग फर्जी तरीके से मंदिर में घुस जाते हैं। इससे मंदिर के अंदर भारी अव्यवस्था पैदा हो जाती है। जिस पर इस बार पूरी तरह रोक लगाई जाएगी।

एसपी मीणा ने कहा कि ऑलवेदर रोड के तहत जगह-जगह हाईवे कङ्क्षटग का कार्य चल रहा है। इन स्थानों पर इस बार बड़ी संख्या में ट्रैफिक पुलिस तैनात की जाएगी। ताकि मार्ग अवरुद्ध होने की दशा में यात्रियों को कोई दिक्कत न हो। कहा कि यात्रा ड्यूटी पर तैनात किसी भी पुलिस कर्मी के यदि लापरवाही बरतने की शिकायत मिलती है तो उसके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

एसपी ने बताया कि यात्रा को व्यवस्थित करने के लिए अगस्त्यमुनि, गुप्तकाशी, ऊखीमठ, सोनप्रयाग, रुद्रप्रयाग व तिलबाड़ा में व्यापारियों की बैठकें की जा रही हैं।

प्रशासन को नहीं मिला पीएम का कार्यक्रम

एसपी मीणा ने बताया कि अभी तक प्रशासन को प्रधानमंत्री के केदारनाथ आने का कार्यक्रम नहीं मिला है। हालांकि, सभी तैयारियां पूरी की जा रही हैं। केदारनाथ समेत यात्रा पड़ावों पर पर पर्याप्त संख्या में पुलिस कर्मी लगाए जा रहे हैं। इसके लिए अन्य जिलों से भी पुलिसकर्मी बुलाए गए हैं।

Leave a Comment