दक्षिण भारत में लगातार बदलता जा रहा मौसम,जारी किया अलर्ट

मौसम का मिजाज दक्षिण भारत में लगातार बदलता जा रहा है। स्काइमेट के अनुसार पूर्व-मध्य अरब सागर और इससे सटे लक्षद्वीप क्षेत्र में गंभीर चक्रवाती तूफान महा में तेज होने के बाद अब शुक्रवार शाम तक बहुत अधिक शक्तिशाली चक्रवात बनने की पूरी संभावना है। हालांकि,अगले कुछ घंटों तक तूफान उत्तर-उत्तर-पश्चिम की दिशा में ही रहेगा।

वहीं, भारतीय मौसम विभाग के अनुसार भी गंभीर चक्रवाती तूफान महा की अगले 24 घंटों के दौरान पूर्वी-मध्य अरब सागर में एक ‘बहुत गंभीर’ चक्रवाती तूफान में तब्दील होने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार शुक्रवार को लक्षद्वीप में प्रतिकूल मौसम नहीं होगा क्योंकि चक्रवात उत्तर पश्चिम की ओर बढ़ रहा है।

तमिलनाडु में बारिश के बाद बढ़ा नदी का जलस्तर

इसी बीच मौसम विभाग ने कई स्थानों पर भारी बारिश को लेकर भी अलर्ट जारी किया था। तमिलनाडु के मदुरै में बारिश के कारण वैगई नदी का जलस्तर बढ़ गया है। मौसम एजेंसी के मुताबिक, लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने केरल और कर्नाटक के तटीय इलाकों में भी भारी से हल्की बारिश का अलर्ट जारी किया है।

मछुआरों को लक्षद्वीप क्षेत्र और उससे सटे दक्षिण-पूर्व अरब सागर में प्रवेश नहीं करने की सलाह दी गई है। वहीं, लक्षद्वीप के कलपेनी द्वीप पर गुरुवार भारी बारिश के काफी तबाही हुई। मौसम विभाग ने गुरुवार को ही मध्य अरब सागर और उससे सटे लक्षद्वीप क्षेत्र पर गंभीर चक्रवाती तूफान माहे को लेकर चेतावनी जारी की थी।

कई स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी

मौसम विभाग के अनुसार लक्षद्वीप में अलग-अलग स्थानों पर भारी बारिश होने की संभावना है वहीं, अधिकांश स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने भी हो सकती है। चक्रवाती तूफान माह को लेकर गृह मंत्रालय ने बुधवार को राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन समिति की एक बैठक बुलाई थी। जिसमें तूफान से बचने को लेकर तैयारियों की चर्चा की गई थी।

केरल में घरों के अंदर घुसा पानी

चक्रवात तूफान महा के कारण समुद्र की उथल-पुथल भरी परिस्थितियों के बाद कल यानी गुरुवार को समुद्र का पानी सड़कों तक आ गए और केरल के चेलांम, एर्नाकुलम स्थित घरों में भी पानी भर गया।

मौसम विभाग ने पहले ही महा को लेकर दो दिन का अलर्ट जारी कर दिया था। केरल के छह जिलों में भी तूफान को लेकर येलो अलर्ट जारी किया गया है। मौसम विभाग ने कहा था कि यदि अरब सागर में चक्रवाती तूफान बनता है तो इसका नाम महा होगा। इससे पहले यहां तूफान वायु, हिका और क्यार बन चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *