Share
राष्ट्रीय अल्पसंख्यक सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने बीजेपी के साथ-साथ आरएसएस पर जमकर बोला हमला

राष्ट्रीय अल्पसंख्यक सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने बीजेपी के साथ-साथ आरएसएस पर जमकर बोला हमला

नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तगड़ा हमला बोला है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी 2019 में नरेंद्र मोदी को हराने जा रही है। राहुल गांधी ने यहां दावा किया कि कांग्रेस पार्टी ने पीएम नरेंद्र मोदी की साख की धज्जियां उड़ा दी हैं। उन्होंने कहा कि इस देश में नफरत फैलाकर राज नहीं किया जा सकता।

कांग्रेस के राष्ट्रीय अल्पसंख्यक सम्मेलन को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने बीजेपी के साथ-साथ आरएसएस और संघ प्रमुख मोहन भागवत पर जमकर हमला बोला। राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि किसी भी देश के पीएम को तोड़ने वाला नहीं, जोड़ने वाला होना चाहिए, नहीं तो ऐसे पीएम को हटा देना चाहिए। राहुल गांधी ने कहा कि आरएसएस नागपुर से देश चलाना चाहता है।

राहुल गांधी ने यहां भाजपा पर संस्थाओं के साथ छेड़छाड़ करने का आरोप लगाया। राहुल ने कहा कि भाजपा वालों को लगता है कि वे देश से भी बड़े हैं। उन्होंने कहा कि देश के इतिहास में पहली बार सुप्रीम कोर्ट के चार जज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कह रहे हैं कि उन्हें काम नहीं करने दिया जा रहा है। राहुल ने आगे कहा कि अब भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सुप्रीम कोर्ट को अपना काम नहीं करने दे रहे हैं। गौरतलब है कि भाजपा और संघ लगातार राम मंदिर मामले में सुप्रीम कोर्ट पर देरी करने का आरोप लगा रहे हैं।

यह देश किसी एक का नहीं
राहुल गांधी ने कहा कि यह देश किसी एक धर्म या जाति के लोगों का नहीं है। इसे बनाने में सभी अल्‍पसंख्‍यक समुदायों का योगदान रहा है। राहुल गांधी ने कहा कि अगर आप अगर आईआईटी, आईआईएम की आत करेंगे तो आपको मौलाना आजाद की बात करनी होगी। वो देश पहले शिक्षा मंत्री थी और मुस्‍लिम थे। अंतरिक्ष कार्यक्रमों की बात करेंगे तो आपको विक्रम साराभाई की बात करनी होगी, वो जैन थें। अगर आप उदारीकरण की बात करेंगे तो आपको मनमोहन सिंह जी की बात करनी होगी, वो सिख हैं। अगर आप 1971 के जीत की बात करेंगे तो आपको मानेकशॉ की बात करनी होगी, वे पारसी थे।

Leave a Comment