Share
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही लुभा रही व्हाट्सऐप और फेसबुक की राखियां

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही लुभा रही व्हाट्सऐप और फेसबुक की राखियां

देहरादून: रक्षाबंधन पर्व का त्योहार 26 अगस्त को मनाया जाएगा। इसके लिए रंग-बिरंगी राखियों से बाजार सजने लगा है। भाई-बहनों के लिए इस बार विशेष तरह की राखियां उपलब्ध है। पलटन बाजार में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ ही व्हाट्सऐप और फेसबुक की राखियां काफी लुभा रही हैं। इसके साथ ही बच्चों के लिए छोटा भीम, मोटू-पतलू, डोरेमोन, निंजा हथोड़ी, एंग्री बर्ड, बेन-10 आदि कार्टून किरदारों की राखी बाजार में उपलब्ध है। इनकी कीमत 30 रुपये से 50 रुपये तक है। कलकत्ता और दिल्ली की राखियां भी आईं हैं, जो 20 रुपये से 500 रुपये तक की रेंज में हैं। भाभियों के लिए चूड़े वाली राखी की भी खासी मांग है। इनकी कीमत 50 से 200 रुपये तक है।

ऑनलाइन ऑर्डर की जा रही अटूट रिश्ते की पौध

रक्षाबंधन भाई-बहन के प्रेम का प्रतीक माना जाता है। इस रिश्ते को मजबूत बनाने के लिए ईको फ्रेंडली राखियां तैयार की गई हैं। देसी कपास, रेशम, तुलसी, चंदन, बेल आदि से तैयार राखियों में विभिन्न प्रकार के प्राकृतिक बीज लगे हैं। इन राखियों को लंबे समय तक सहेजकर भी रखा जा सकता है। वहीं राखी में से बीज निकालकर इन्हें बगीचे में भी बो सकते हैं। हालांकि दून में यह कहीं-कहीं ही यह उपलब्ध हैं। ज्यादातर लोग इसे ऑनलाइन शॉपिंग साइट से ऑर्डर कर रहे हैं।

रोजाना दो सौ से ज्यादा राखियां की जा रहीं पोस्ट

डाकघर में भी राखियां भेजने वालों की लंबी कतारें इन दिनों नजर आ रही हैं। डाक टिकट की कमी के चलते ज्यादातर लोग स्पीड पोस्ट के माध्यम से ही अपने दूर-दराज रहने वाले भाइयों और रिश्तेदारों को राखी भेज रहे हैं। चीफ पोस्ट मास्टर जेपी सेमवाल ने बताया कि रोजाना करीब दो सौ राखियां स्पीड पोस्ट की जा रही हैं।

Leave a Comment