Share
सऊदी अरब की महिलाएं फौज में भी आएंगी नजर

सऊदी अरब की महिलाएं फौज में भी आएंगी नजर

दुबई : ड्राइविंग का अधिकार मिलने के बाद अब सऊदी अरब की महिलाएं फौज में भी नजर आएंगी। सऊदी अरब ने सोमवार को एक ऐसा फरमान जारी किया है जिसके तहत अब महिलाएं की फौज में शामिल हो सकती है। सोमवार को सऊदी अरब ने चीफ ऑफ स्टाफ सहित शीर्ष सैन्य अधिकारियों को बर्खास्त कर दिया है। सऊदी अरब की सरकारी मीडिया में छपे फरमान के अनुसार, सऊदी सेना के चीफ ऑफ स्टाफ रिटायर हो गए हैं और उनकी जगह फर्स्ट लेफ्टिनेंट जनरल फैयाद बिन हामिद अल रुवायली को यह जिम्मेदारी सौंपी गई है। इसके साथ ही देश की वायु सेना और थल सेना के भी नए प्रमुख नियुक्त किए गए हैं।

सऊदी में महिला बनी उप-मंत्री 

बर्खास्ती के साथ ही सऊदी अरब ने कुछ राजनीतिक नियुक्तियां भी की है। इन नए नामों में तमादुर बिंत यूसुफ़ अल-रामाह का नाम भी शामिल है। जिन्हें श्रम और सामाजिक विकास विभाग की उपमंत्री नियुक्त किया गया है। जाहिर है कि सऊदी अरब में किसी महिला का उप-मंत्री बनना कोई आम बात नहीं है। इस फरमान के कहा गया है कि शाह सलमान के भाइयों प्रिंस अहमद, तलाल और मुकरीन के वारिशों में तीन को उपराज्यपाल नियुक्त किया गया है। कहा जा रहा था कि 2015 में शाह सलमान को सऊदी अरब की गद्दी मिलने के बाद से ही इनमें से कई खुद को उपेक्षित महसूस कर रहे थे।

बता दें कि इस लिस्ट में असीर प्रांत के उपराज्यपाल बनाए गए तुर्की बिन तलाल भी शामिल हैं। वे प्रिंस अलवलीद बिन तलाल के भाई हैं। अलवलीद बिन तलाल वहीं अरबपति हैं जिन्हें सरकार की ‘भ्रष्ट विरोधी अभियान’ के तहत हिरासत में लिया गया था और पिछले महीने ही रिहा किया गया है।

मोहम्मद बिन सलमान के दौर में बदलता सऊदी अरब 

गौरतलब है कि सऊदी अरब में 32 वर्षीय मोहम्मद बिन सलमान के कुर्सी संभालने के बाद से कई अहम और बड़े बदलाव देखने को मिले हैं, खासकर महिलाओं के लेकर कई सकारात्मक बदलाव किए गए हैं। हाल ही के दिनों में महिलाओं पर लगी कई पाबंदियों को हटाने के बाद अब महिला का मंत्री बनाए जाने के फैसले को काफी अहम कदम माना जा रहा है। मोहम्मद बिन सलमान युवाओं के बीच भी काफी लोकप्रिय है, जो वहां की आबादी का बड़ा हिस्सा है।

महिलाओं के लिए बदला सऊदी अरब का नजरिया

– सऊदी अरब की महिलाओं को देश के कुछ स्टेडियम में प्रवेश करने की इजाजत दी गई है

– जेद्दाह में पूरी तरह महिला ग्राहकों के लिए समर्पित देश का पहला कार शोरूम खोला गया

– पिछले सितंबर में जारी आदेश के तहत इसी साल जून महीने से महिलाओं को पहली बार कार चलाने की इजाज़त भी मिल जाएगी

– सऊदी अरब के इतिहास में पहली बार स्कूलों में लड़कियों को खेल में हिस्सा लेने और शारीरिक शिक्षा हासिल करने की अनुमति मिलेगी

– सामाजिक परिवर्तनों की इसी दिशा में जल्द ही पवित्र शहर मदीना की नगरपालिका को महिलाएं संचालित करती नजर आएंगी

Leave a Comment