Share
ऋषिकेश को पर्यटन हब बनाने के लिए वेलनेस सिटी प्रोजेक्ट पर काम शुरू

ऋषिकेश को पर्यटन हब बनाने के लिए वेलनेस सिटी प्रोजेक्ट पर काम शुरू

देहरादून: ऋषिकेश को पर्यटन हब के रूप में विकसित करने के लिए पर्यटन विभाग ने वेलनेस सिटी प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया है। आइडीपीएल की 633 एकड़ भूमि पर आधुनिक सुविधाओं के साथ यह सिटी तैयार की जाएगी। वेलनेस सिटी बनाने के लिए तकनीकी सलाहकार के रूप में अंतरराष्ट्रीय स्तर की नौ कंपनियों ने आवेदन किया है। अंतिम चयन के बाद इसी साल से वेलनेस सिटी का निर्माण शुरू हो जाएगा।

डेवलपमेंट सपोर्ट सर्विस टू स्टेट इंफ्रास्ट्रक्चर के तहत ऋषिकेश को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पर्यटन हब के रूप में देखा जा रहा है। यहां आने वाले देशी-विदेशी पर्यटकों की संख्या को देखते हुए पर्यटन विभाग ने वेलनेस सिटी की योजना तैयार की है। पर्यटकों को योग, संस्कृति, गंगा, नेचर, रिसोर्ट, हेल्थ सेंटर, बाजार, कॉरपोरेट डेस्टिनेशन जैसी सुविधाएं इस वेलनेस सिटी में मिलेंगी। वेलनेस सिटी आइडीपीएल को आवंटित 633 एकड़ यानि साढ़े तीन हजार बीघा जमीन पर बनेगी। इसके लिए पर्यटन विभाग ने तकनीकी सलाहकार के रूप में अंतरराष्ट्रीय कंपनियों के लिए टेंडर आमंत्रित किए थे। इसके लिए स्वीडन, अमेरिका, आयरलैंड, बैंकॉक समेत अंतरराष्ट्रीय मानक पूरा करने वाली नौ कंपनियां आगे आई हैं।

इन कंपनियों का चयन इसी माह कर लिया जाएगा। इसके बाद एक साल के भीतर वेलनेस सिटी के निर्माण की कार्रवाई शुरू होगी। वेलनेस सिटी का निर्माण पीपीपी (पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप) मोड पर किया जाना है। इससे राज्य सरकार पर बजट का भार नहीं पड़ेगा। पर्यटन विभाग का मानना है कि इस योजना से जहां राज्य के पर्यटन को पंख लगेंगे, वहीं, हजारों युवाओं को रोजगार के अवसर मिलेंगे। साथ ही स्थानीय उत्पादों से लेकर लोक संस्कृति को बढ़ावा मिलेगा।

कन्वेंशन सेंटर भी बनेगा 

वेलनेस सिटी से पहले पर्यटन विभाग कन्वेंशन सेंटर बनाएगी। इसके लिए आइडीपीएल में अलग से 12 एकड़ जमीन तलाशी गई है। कन्वेंशन सेंटर पर 400 करोड़ रुपये खर्च करने की योजना है। इसी साल से इस कन्वेंशन सेंटर का निर्माण होगा। वेलनेस सेंटर बनाने में कन्वेंशन सेंटर मदद के रूप में देखा जा रहा है। इस सेंटर बनाने के लिए भी केंद्र सरकार के नीति आयोग ने सहमति दे दी है। केंद्र के बजट से ही यह सेंटर तैयार होगा।

नीति आयोग ने प्रोजेक्ट को लेकर सैद्धांतिक सहमति दी 

पर्यटन सचिव दिलीप जावलकर ने बताया कि पीपीपी मोड पर सिटी को तैयार करने को टेंडर आमंत्रित वेलनेस सिटी और कन्वेंशन सेंटर के लिए नीति आयोग ने सहमति दे दी है। तकनीकी सलाहकार के रूप में नौ एजेंसियां सामने आई हैं। इनके चयन की प्रक्रिया चल रही है। टूरिज्म हब के रूप में वेलनेस सिटी अंतरराष्ट्रीय स्तर की होगी।

Leave a Comment