कांग्रेस ने आरोप लगाया,नरेंद्र मोदी और वित्‍त मंत्री देश और उसकी अर्थव्यवस्था के प्रति गंभीर नहीं हैं

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण देश और अर्थव्यवस्था के प्रति गंभीर नहीं हैं। कांग्रेस नेता आनंद शर्मा ने कहा कि सत्‍ता में आने के बाद सरकार के पिछले चार महीनों के कार्यकाल को देखकर यही लगता है कि प्रधानमंत्री और वित्त मंत्री देश और अर्थव्यवस्था के प्रति गंभीर नहीं है। देश में 35 लाख नौकरियां केवल ऑटोमोबाइल सेक्टर में खत्म हुई हैं।

कांग्रेस नेता ने कहा कि पिछले सात वर्षों में सबसे बड़ी गिरावट देश के निर्माण क्षेत्र में आई है। गंभीर चिंता इस बात की है कि निवेश नहीं आ रहा रहा है। पूंजीगत वस्तुओं में 21 फीसदी की गिरावट आई है। टेक्सटाइल सेक्टर की मिलें बंद हो रही हैं।  हथकरघा का जाना-माना केंद्र पानीपत में उत्‍पादन लगभग ठप है। देश का चमड़ा उद्योग संकट में है। सरकार के पास राजस्व की भारी कमी है। सरकार का जीएसटी रिफंड, एक्सपोर्ट रिफंड और पीएसयू के बिना भुगतान वाले बिलों का आंकड़ा लगभग 10 लाख करोड़ रुपये है। यदि इसको जोड़ लिया जाए तो राजकोषीय घाटा 3.3 फीसदी न होकर आठ फीसदी से ऊपर होगा।

कांग्रेस नेता ने कहा कि देश के कॅमर्शियल सेक्‍टर में क्रेडिट फ्लो 88 फीसदी कम हुआ है। यही नहीं बैंक धोखाधड़ी के मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। पीएमसी बैंक के पीड़‍ित वित्‍त मंत्री से गुहार कर रहे हैं और वह कहती हैं कि इस घोटाले पर कमेटी बनाएंगी और रिजर्व बैंक से बात करेंगी। यह सरकार संवेदनहीन है, यह केवल लोगों से पैसा लेना जानती है, उनकी फंसी रकम को उन्‍हें वापस करने को लेकर गंभीर नहीं है। सरकार ने एजेंसियों को कर संग्रह के कार्यों से इतर दूसरे कामों में लगा दिया है। ये एजेंसियां राजनीतिक विरोध‍ियों के खिलाफ काम करने में जुटी हुई हैं। हमारी पार्टी के कर्मचारियों पर आयकर विभाग के छापे मारे जा रहे हैं। सरकार बदले की भावना से काम कर रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *