10वीं के होनहार आमोघ मीणा बोले बनना चाहते हैं आईएएस

आईएएस बनकर देश की सेवा करना चाहते आमोघ मीणा
देहरादून।केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) की ओर से बुधवार को जारी 10वीं के परिणाम में देहरादून के बच्चों ने अपना दबदबा कामय रखा है। एशियन स्कूल के आमोघ नारायण मीणा ने बेहतर परिणाम लाते हुए स्कूल के टॉप-5 में शामिल हुए। आमोघ नारायण मीणा का लक्ष्य सिविल सेवा में जाना है। इंजीनियरिंग करने के बाद वह आईएएस बनना चाहते हैं, ताकि देश की सेवा कर समाज में मिसाल कायम कर सके। आमोघ की इस सफलता पर अभिभावक और स्कूल के शिक्षक गर्व महसूस कर रहे हैं। इस परीक्षा को टॉप करना हर किसी का सपना होता है। कुछ ऐसा ही एशियन स्कूल के छात्र आमोघ मीणा ने भी अपना लक्ष्य तय कर 97 फीसद अंक अर्जित करते हुए टॉप फाइव में शामिल हुए। सीबीएसई गाइडलाइंस के अनुसार लैंग्वेज के दो सब्जेक्ट होते हैं, इसमें आमोघ ने अनिवार्य सब्जेक्ट कंप्यूटर साइंस और अंग्रेजी लिया है। इन दो सब्जेक्ट के अंक जोड़ने के साथ आमोघ ने टॉप फाइव सब्जेट में 97 फीसद अंकों के साथ बड़ी उपलब्धि हासिल की है। उल्लेखनीय है  कि सीबीएसई ने कंप्यूटर साइंस को अनिवार्य और वैकल्पिक सब्जेक्ट में अलग अलग शामिल किया है। आमोघ ने आईटी (कंप्यूटर साइंस) को अनिवार्य विषय में लिया था। इस हिसाब से आमोघ ने आईटी में पूरे 100 फीसद अंक अर्जित कर टॉप फाइव सब्जेक्ट में शामिल होकर टॉपरों की सूची में जगह बनाई है। हालांकि आमोघ कहते हैं कि उनकी उम्मीद तो इससे ज्यादा थी। लेकिन कुछ विषयों में कम अंक मिले हैं। अंग्रेजी और विज्ञान जैसे कठिन विषय में 96-96 अंक हासिल किये हैं। सोशल साइंस में 97 तो गणित में 92 फीसद अंक प्राप्त किए। इसके अलावा आमोघ को हिंदी में भी अच्छे अंक की उम्मीद थी, लेकिन हार्ड मार्किंग के चलते 89 अंक हासिल किए। आमोघ ने कम अंक मिलने पर अब हिंदी और गणित में रिचेक की बात कर रहे हैं। आमोघ को उम्मीद है कि रिचेक के बाद अंकों में निश्चित तौर पर इजाफा  होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *