उत्तराखंड में कोरोना के 210 नए मामले सामने आए, अब तक 4849 मामले, 3297 लोग हुए ठीक

उत्तराखंड में कोरोना का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। बल्कि वायरस का प्रसार अब कई गुना बढ़ गया है। स्थिति की गंभीरता को इस बात से ही समझा जा सकता है कि पिछले 12 दिन में कोरोना के डेढ़ हजार से ज्यादा मामले आ चुके हैं। मंगलवार को भी प्रदेश में कोरोना के 210 नए मामले सामने आए हैं। अभी तक प्रदेश में कोराना के 4849 मामले आ चुके हैं। इनमें से 3297 लोग ठीक हो चुके हैं और फिलवक्त 1458 मरीज विभिन्न अस्पतालों व कोविड केयर सेंटरों में भर्ती हैं। 38 मरीज राज्य से बाहर चले गए हैं। कोरोना संक्रमित 56 मरीजों की अब तक मौत हो चुकी है। इनमें चकराता निवासी 46 वर्षीय एक महिला की मौत मंगलवार को दून मेडिकल कॉलेज अस्पताल में हुई है। महिला पहले एक निजी अस्पताल में भर्ती थी। कोरोना पॉजिटिव मिलने पर उसे दून अस्पताल के लिए शिफ्ट किया गया, जहां उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को 2348 सैंपलों की जांच रिपोर्ट मिली है। जिनमें 2138 की रिपोर्ट निगेटिव और 210 की पॉजिटिव आई है। देहरादून में सबसे अधिक 65 मामले मिले हैं। इनमें 15 लोग सेलाकुईं स्थित एक फैक्ट्री में काम करने वाले हैं। जबकि सेना के 16 जवान भी संक्रमित मिले हैं। हरिद्वार में भी कोरोना की स्थिति विस्फोटक हो रही है। यहां पर 52 और लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें 17 मामले हिंदुस्तान यूनीलिवर कंपनी से हैं। जबकि 35 लोग पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क में आए हैं। बहादराबाद थाने के एक दारोगा के पॉजिटिव आने के बाद थाने को सील कर दिया गया है। दारोगा देहरादून से हरिद्वार गया था।

ऊधमसिंहनगर जिले में 34 नए केस मिले हैं। इनमें 17 लोगों की ट्रेवल हिस्ट्री अभी पता नहीं लगी है। जबकि छह कोरोना संक्रमित के संपर्क में आए लोग हैं। एक स्वास्थ्य कर्मी व एक पुलिस कर्मी भी कोरोना की चपेट में आया है। अन्य लोग जयपुर, पुलवामा, मुरादाबाद, बिजनौर, बेंगलुरु व सउदी अरब से लौटे हुए हैं। टिहरी में भी 21 और लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। ये लोग मुंबई, हैदराबाद, फरीदाबाद, किर्गिजस्तान, दुबई, कर्नाटक, दिल्ली, अबू धाबी, बहरीन व ओमान से वापस लौटे हुए हैं।

उत्तरकाशी में भी कोरोना के 16 मामले मिले हैं। इनमें 15 लोगों की कोई ट्रेवल अभी पता नहीं है, जबकि एक बिहार से लौटा हुआ शख्स है। नैनीताल में 15 लोगों मे कोरोना की पुष्टि हुई है। इनमें दस कोरोना पॉजिटिव के संपर्क में आए और चार लोग फ्लू ओपीडी में जांच करने पहुंचे थे। अल्मोड़ा में भी पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क में आए पांच लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। चंपावत में दो नए केस मिले हैं। इनमें एक दिल्ली से लौटा व्यक्ति है जबकि एक की ट्रेवल हिस्ट्री नहीं है। इधर, मंगलवार को 85 मरीज डिस्चार्ज भी किए गए हैं। इनमें 61 ऊधमसिंनगर, 9 देहरादून, 9 पौड़ी और दो-दो मरीज हरिद्वार, पिथौरागढ़ व टिहरी से हैं।

दून और हरिद्वार ने बढ़ाई सिस्‍टम की बेचैनी

उत्तराखंड में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामले आने वाले दिनों में स्थिति भयावह होने की तरफ इशारा कर रहे हैं। क्योंकि जितनी अधिक संख्या में सैंपल भेजे जा रहे हैं उतने ही अधिक पॉजीटिव मरीज भी मिल रहे हैं। संक्रमण के लिहाज से फिलहाल दून व हरिद्वार हॉटस्पाट बने हुए हैं। जबकि ऊधमसिंहनगर व नैनीताल में मरीजों का ग्राफ लगातार बढ़ रहा है, बल्कि टिहरी में यकायक बढ़े मरीजों के आंकड़ा ने भी पूरे सिस्टम को चिंता में डाल दिया है।

कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ने से स्वास्थ्य महकमे के सामने चुनौतियां भी बढ़ती जा रही हैं। सबसे बड़ी मुसीबत संक्रमित मरीजों के संपर्क में आए लोगों की पहचान करना है। क्योंकि संक्रमण के अब ऐसे भी मामले आ रहे हैं जिनमें व्यक्ति की किसी सार्वजनिक कार्यक्रम या भीड़भाड़ वाले इलाकों में मौजूदगी रही है। यही नहीं हरिद्वार व देहरादून में अलग-अलग फैक्टियों में काम कर रहे कामगार जिस रफ्तार से संक्रमित हो रहे हैं उसने भी एक नई चुनौती खड़ी कर दी है।

हरिद्वार में हिंदुस्तान यूनिलीवर में काम करने वाले तीन सौ से अधिक लोग अब तक पॉजिटिव आ चुके हैं। एक सप्ताह की स्थिति का विश्लेषण करें तो इस दरमियान यहां 380 लोग संक्रमित मिले है। स्थिति किस कदर चिंताजनक है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि एक सप्ताह में मिले यह मामले अब तक की कुल संख्या का करीब 49 फीसद है। इसी तरह दून पर भी बीमारी का बोझ लगातार बढ़ रहा है। यहां भी उद्योगों में काम कर रहे कामगार हर अंतराल पर संक्रमित मिल रहे हैं। यहां भी एक सप्ताह के भीतर 289 नए मामले आ चुके हैं।

वहीं ऊधमसिंहनगर में भी पॉजिटिव मरीजों का अब तक का आंकड़ा 763 और नैनीताल में 715 हो चुका है। टिहरी में भी पिछले कुछ दिन से मामले बढ़ने लगे हैं। अभी कुछ वक्त पहले यहां एक भी एक्टिव केस नहीं था और अब 41 मरीज भर्ती हैं। पिछले कुछ दिन से रोजाना ढाई से तीन हजार सैंपल जांच को भेजे जा रहे हैं। इससे प्रयोगशालाओं में बैकलॉक भी बढ़ता जा रहा है। मंगलवार तक अलग-अलग लैब में बैकलॉग 11 हजार से ऊपर पहुंच गया। इस स्थिति में भी तमाम आशंकाएं प्रबल होने लगी हैं।

हिंदुस्‍तान यूनिलीवर के 16 और कर्मी मिले पॉजिटिव

सिडकुल स्थित हिंदुस्‍तान यूनिलीवर के 16 और कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। इसे मिलाकर अब तक 304 कर्मचारियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आ चुकी है। इन कर्मियों के संपर्क में आए व्यक्तियों को चिह्नित कर उनके सैंपल भी लिए जा रहे हैं। सीएमओ डॉ. शंभूनाथ झा ने बताया कि कंपनी के 2412 कर्मचारियों की सैंपलिंग हो चुकी है और करीब-करीब सभी रिपोर्ट भी आ चुकी हैं। जिलाधिकारी सी. रविशंकर ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए हिंदुस्‍तान यूनिलीवर के बाद रावली महदूद स्थित आइपी टू में सुपर इंडस्ट्रीज को बंद कर सील करने के आदेश जारी किए हैं। कंपनी के सभी कर्मियों के रैपिड एंटी बॉडी टेस्ट कराने के भी निर्देश दिए हैं। इसे कंपनी प्रबंधन खुद कराएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *