एजेंसियों ने की भारत के सीमांत जिलों में तीन देशों के पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध की सिफारिश

उत्तरकाशी: देश के सीमांत क्षेत्र की सुरक्षा के लिए खुफिया एजेंसियां भी और अधिक सक्रिय हो गई हैं। एजेंसियों की बैठक में भारत के सीमांत जिलों में गतिरोध वाले तीन देशों के पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध की सिफारिश की गई।

चीन के साथ सीमा को लेकर विवाद और पाकिस्तान के साथ तनाव की स्थिति को देखते हुए सुरक्षा एजेंसियां भी सक्रिय हैं। उत्तरकाशी के मातली में हुई खुफिया एजेंसियों की बैठक में सीमांत क्षेत्र की सुरक्षा को लेकर चर्चा की गई।

गोपनीय सूत्रों के अनुसार बैठक में खुफिया एजेंसियों की इस बात को लेकर सहमति बनी कि सामरिक दृष्टि से सीमावर्ती जिलों में तीन देशों के  विदेशी पर्यटकों के प्रवेश पर प्रतिबंध लगाने के लिए गृह मंत्रालय व विदेश मंत्रालय को पत्र भेजा जाएगा।

बैठक भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल के मातली कैंप में आयोजित की गई। इसमें उत्तरकाशी स्थानीय अभिसूचना इकाई के निरीक्षक, स्पेशल ब्रांच, रॉ, आइबी तथा आइटीबीपी के अधिकारी शामिल रहे।

बैठक में भारत चीन सीमा से जुड़े हुए जनपद उत्तरकाशी को लेकर चर्चा हुई। चर्चा में इस बात पर भी सहमति बनी कि जिन देशों के बीच भारत का गतिरोध चला आ रहा है तथा जिन देशों से राष्ट्र सुरक्षा को लेकर खतरा पैदा हो सकता है।

वहां के पर्यटकों को सीमा से अंतर्राष्ट्रीय सीमा से जुड़े उत्तराखंड के उत्तरकाशी, चमोली व पिथोरागढ़ में आने की अनुमति न दी जाए। इसके लिए खुफिया एजेंसियां अपने स्तर से भारत सरकार के गृह मंत्रालय व विदेश मंत्रालय को पत्र लिखेंगे। इससे जिले की गोपनीयता भंग की आशंका नहीं रहेगी और देश की सुरक्षा के साथ कोई खिलवाड़ नहीं हो सकेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *