अविनाश पांडे ने कहा- सचिन पायलट को दूसरा मौका दे

राजस्थान में जारी सियासी संकट के बीच आज एक बार फिर कांग्रेस ने विधायक दल की बैठक बुलाई है। इस बैठक में सचिन पायलट समेत उनके समर्थक विधायकों को बैठक में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है। इसी बीच राजस्थान कांग्रेस प्रभारी अविनाश पांडे ने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा है, ‘हम सचिन पायलट को दूसरा मौका दे रहे हैं, उनसे आज की सीएलपी बैठक में भाग लेने के लिए कहा। आशा है कि आज सभी विधायक आएंगे और नेतृत्व के साथ एकजुटता दिखाएंगे, जिसके लिए राजस्थान के लोगों ने मतदान किया, हम सभी राज्य के विकास के लिए काम करना चाहते हैं।’

गौरतलब है कि सोमवार को सीएम अशोक गहलोत के निवास पर विधायक दल की बैठक हुई थी। बैठक के बाद विधायकों को रिजॉर्ट भेज दिया गया। पार्टी नेताओं ने दावा किया कि इस बैठक में122 विधायकों में से 106 शामिल हुए। हालांकि, सिंधिया समर्थकों ने दावे को खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा है कि कहा है कि बहुमत विधानसभा में साबित होता है, सीएम आवास पर नहीं। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार  कल हुई बैठक में पायलट और 18 विधायक शामिल नहीं हुए। सचिन पायलट ने रविवार को 30 कांग्रेस विधायकों और कुछ निर्दलीय के समर्थन का दावा किया।

इससे पहले सचिन पायलट के खेमे ने सोमवार को एक वीडियो जारी किया। इस वीडियो में 16 विधायक एक साथ बैठे दिखाई दे रहे हैं। यह वाक्या कांग्रेस विधायक दल की बैठक के कुछ घंटों बाद का है। इस 10 सेकंड के वीडियो को देर रात पायलट के आधिकारिक व्हाट्सएप ग्रुप पर शेयर किया गया। समाचार एजेंसी पीटीआइ के अनुसार वीडियो में, कम से कम 16 विधायक एक साथ बैठे दिखाई दे रहे हैं। हालांकि, वीडियो में पायलट नजर नहीं आ रहे है। वीडियो में छह अन्य लोगों को देखा जा सकता है, लेकिन उनकी पहचान नहीं हो सकी है। वीडियो में दिख रहे कुछ विधायकों में इंद्रराज गुर्जर, मुकेश भाकर, हरीश मीणा हैं। पर्यटन मंत्री विश्वेंद्र सिंह ने वीडियो को कैप्शन के साथ ‘परिवार’ के साथ ट्वीट किया। वहीं लाडनू से विधायक मुकेश भाकर ने ट्वीट कर कहा, ‘कांग्रेस में निष्ठा का मतलब अशोक गहलोत की गुलामी है। यह हमें स्वीकार्य नहीं है।’

बीटीपी ने दोनों विधायकों को व्हिप जारी किया

राजस्थान विधानसभा में दो विधायकों वाली भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) ने अपने विधायकों को तटस्थ रहने और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत या उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट किसी का भी समर्थन न करने को कहा है। इसके अलावा बीटीपी ने अपने विधायकों से राज्य में चल रहे राजनीतिक संकट के दौरान न तो कांग्रेस और न ही भाजपा का साथ देने को कहा है। बीटीपी अध्यक्ष महेशभाई वसावा ने दोनों विधायकों को व्हिप जारी किया। हालांकि, गहलोत खेमा बीटीपी विधायकों को सरकार का समर्थक मानता है। बीटीपी के एक विधायक ने कहा है कि सरकार को समर्थन जारी रहेगा।

पायलट के करीबी सूत्रों ने भाजपा में शामिल होने की संभावना से किया इनकार 

पायलट के करीबी सूत्रों ने उनके भाजपा में शामिल होने की संभावना से इनकार किया है। 200 सदस्यीय राजस्थान विधानसभा में, फिलहाल कांग्रेस के 107  और भाजपा 72 विधायक हैं। सत्तारूढ़ दल को 13 निर्दलीय विधायकों, सीपीएम और भारतीय ट्राइबल पार्टी (BTP) के दो-दो विधायकों, और एक राष्ट्रीय लोक दल के विधायक का समर्थन प्राप्त है।

राहुल और प्रियंका समेत कांग्रेस के कई नेता पायलट के संपर्क में

जनाकारी के अनुसार पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और प्रियंका गांधी पायलट के संपर्क में हैं। इनके अलावा अहमद पटेल, पूर्व केंद्रीय वित्त मंत्री पी चिदंबरम और एआइसीसी के महासचिव केसी वेणुगोपाल की भी पायलट के साथ बातचीत हुए है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *