भीषण आग लगने से आठ परिवारों का संयुक्त भवन जलकर खाक

जोशीमठ, चमोली : सीमांत चमोली जिले के जोशीमठ विकासखंड के सेमा गांव में आठ परिवारों का संयुक्त भवन जलकर खाक हो गया। साथ ही भुवनेश्वरी देवी का मंदिर भी आग की चपेट में आ गया। मंदिर में रखे चांदी के छत्र समेत अन्य सामान भी आग की भेंट चढ़ गए हैं। तहसील प्रशासन की टीम मौके का मुआयना कर नुकसान का आंकलन किया है। प्रभावित परिवारों ने गांव के दूसरे घरों में शरण ली हुई है।

गत रात्रि जोशीमठ नगर पालिका क्षेत्र के मारवाड़ी वार्ड के सेमा तोक में बीती रात भीषण आग लगने से अफरा-तफरी मच गई। मकान के अंदर ही भवन स्वामी ने भुवनेश्वरी देवी के मंदिर में सायं को पूजा अर्चना के बाद दीया जलाया। इसके बाद भवन स्वामी कुशलानंद सकलानी खाना खाने के बाद सो गए।

रात्रि करीब साढ़े आठ बजे दीये का तेल फैलने से कपड़ों ने आग पकड़ ली। इस पर भवन स्वामी और ग्र्रामीणों ने आग पर बुझाने का प्रयास किया। सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस व फायर सर्विस के कर्मचारियों ने भी आग बुझाने के लिए मशक्कत की, लेकिन आग पर काबू नहीं पा सके। इसके बाद सेना की मदद ली गई।

सेना के 22 जवानों ने ग्रामीणों के साथ मिलकर रात्रि करीब ढाई बजे आग पर काबू पाया। अग्निकांड में खाक हुआ 11 कमरों का दोमंजिला भवन आठ परिवारों का था। इनमें कुशलानंद सकलानी, राजेंद्र सकलानी, दुर्गा प्रसाद सकलानी, प्रमोद सकलानी, विनोद सकलानी, मनीष सकलानी, सूरज सकलानी, नवीन सकलानी शामिल हैं।

अग्निकांड से भवन के भीतर रखा सामान पूरी तरह जलकर राख हो गया। जोशीमठ के उपजिलाधिकारी योगेंद्र ङ्क्षसह के नेतृत्व में राजस्व टीम ने मौके का मुआयना किया है। एसडीएम ने कहा कि आग से हुए नुकसान का आंकलन किया जा चुका है। शीघ्र ही प्रभावितों को मुआवजा वितरण की कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *