मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा- चीन के साथ तनातनी के चलते सरकार का इरादा सीमांत सड़कों को दुरुस्त करने का

चीन सीमा पर सड़कों के रखरखाव और पुनर्निर्माण के मानकों में उत्तराखंड सरकार शिथिलता चाहती है। चीन के साथ तनातनी के चलते सरकार का इरादा सीमांत सड़कों को दुरुस्त करने का है। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि इस मामले में केंद्र सरकार से बातचीत की जा रही है। उन्होंने बताया कि केदारनाथ में पहले चरण के पुनर्निर्माण कार्य इसी साल 31 दिसंबर तक पूरे होंगे। आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति व अन्य भारी सामग्री लाने के लिए एयरफोर्स की मदद ली जाएगी। केदारनाथ में हेलीपैड का विस्तार किया जाएगा।

चीन के साथ तनाव को देखते हुए प्रदेश सरकार सीमांत क्षेत्रों में सड़कों की दशा सुधारने पर जोर दे रही है। इससे सैन्य वाहनों और अन्य जरूरी सामग्री की आवाजाही सुगमता से हो सकेगी। मुख्य सचिव ओमप्रकाश ने कहा कि अभी केंद्र सरकार के मानक इन सड़कों के रखरखाव व पुनर्निर्माण के आड़े आ रहे हैं। इन्हें शिथिल करने के संबंध में शुक्रवार को मुख्य सचिव और केंद्रीय गृह सचिव के बीच वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए वार्ता होगी।

उन्होंने बताया कि केदारनाथ में पुनर्निर्माण कार्यों के पहले चरण को पूरा करने पर जोर दिया जा रहा है। मंदाकिनी और सरस्वती नदियों के किनारे घाट बनाए जा रहे हैं। साथ ही बाढ़ सुरक्षा के उपाय भी किए गए हैं। तीर्थ पुरोहितों के लिए 104 में से 70 आवास बन चुके हैं। शेष आवासों का जल्द निर्माण करने के निर्देश दिए जा चुके हैं। केदारनाथ में आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति जल्द स्थापित की जाएगी। इसके लिए गढ़वाल मंडल विकास निगम के वहां स्थित कुछ भवनों को हटाया जाएगा। आदि गुरु शंकराचार्य की मूर्ति और अन्य भारी सामग्री केदारनाथ पहुंचाने को एयरफोर्स की मदद ली जाएगी। गुरुवार को एयरफोर्स के अधिकारियों के साथ मुख्य सचिव की वार्ता भी हुई।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *