कोरोना के बढ़ते मामलों पर सीमाएं सील करने पर विचार

उत्तराखंड में कोरोना के लगातार बढ़ते मामलों को देखते हुए प्रदेश सरकार इस दिशा में गंभीर हो गई है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने अधिकारियों को जरूरत पड़े पर राज्य की सभी सीमाओं को सील करने और पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन करने पर पूरी गंभीरता से विचार करने को कहा है। हालांकि, पहले से होटलों में बुकिंग कराने वाले पर्यटकों और जरूरी काम से आने वालों को छूट दी जाएगी।

प्रदेश में बीते कुछ दिनों से कोरोना संक्रमण के मामलों ने तेज रफ्तार पकड़ी है। गुरुवार को ही कोरोना के 199 नए मामले सामने आए। तेजी से बढ़ रहे संक्रमण का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि ठीक एक हफ्ते पहले नौ जुलाई को प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव 3305 मामले थे, जो एक सप्ताह में गुरुवार को 3982 हो गए। इस अवधि में कुल 677 नए मामले सामने आए।

इसी तरह नौ जुलाई को रिकवरी रेट 80.85 प्रतिशत और डबलिंग रेट 60.66 दिन था, जो गुरुवार को घटकर क्रमश: 75.19 प्रतिशत और 27.19 दिन तक पहुंच गया है। जो नए मामले सामने आ रहे हैं उनमें अधिकांश कोरोना संक्रमितों के संपर्क में रहे हैं या फिर उनका कोई इतिहास ही नहीं है। लगातार बढ़ते मामलों के बीच मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने गुरुवार शाम को मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह और सचिव स्वास्थ्य अमित नेगी के साथ आपात बैठक कर इस संबंध में गहन मंथन किया।

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों से कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम को हर संभव उपायों पर पूरी गहनता से विचार करते हुए आवश्यक कदम उठाए जाएं। जरूरत पडऩे पर राज्य की सभी सीमाओं को सील करने के साथ ही पूरे प्रदेश में शनिवार और रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन किया जाए। जिन लोगों की होटल में बुकिंग हैं, उन्हें कुछ शर्तों के साथ आने की छूट रहेगी। जरूरी काम से उत्तराखंड आने वालों को भी आने की इजाजत मिलेगी। उच्च पदस्थ सूत्रों के मुताबिक सीमाएं सील करने और शनिवार व रविवार को संपूर्ण लॉकडाउन के संबंध में शुक्रवार को आदेश जारी कर दिए जाने की संभावना है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

<