उत्तराखंड में तेजी से बढ़ रहा कोरोना, गुरुवार को 416 लोग की रिपोर्ट पॉजिटिव

उत्तराखंड में कोरोना के पांच माह पूरे होने में एक दिन बाकी है। संक्रमण के लिहाज से यह पांचवां माह राज्य पर भारी गुजरा है। अभी तक के कुल मामलों में 67 फीसद इसी दौरान आए हैं। यह संख्या साढ़े सात हजार से ऊपर है। सहज अंदाजा लगाया जा सकता है कि कोरोना का ग्राफ किस तेजी से बढ़ रहा है। अब हर दिन सैकड़ों संक्रमित मरीज मिल रहे हैं। गुरुवार को भी 416 लोग की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार गुरुवार को 7721 सैंपलों की जांच रिपोर्ट प्राप्त हुई है। इनमें 7305 सैंपल निगेटिव हैं। ऊधमसिंह नगर में सबसे अधिक 192 संक्रमित मिले हैं। हरिद्वार में भी 107 और लोग कोरोना की चपेट में आए हैं। इनमें पूर्व में संक्रमित मिले मरीजों के संपर्क में आने वालों की संख्या ज्यादा है। वहीं उप कारागार में तीन बंदी भी कोरोना पॉजिटिव आए हैं। देहरादून में 36 लोग पॉजिटिव मिले हैं। इसके अलावा टिहरी व चंपावत में 16-16, नैनीताल व उत्तरकाशी में 15-15, बागेश्वर में नौ, पौड़ी में पांच, रुद्रप्रयाग में चार और अल्मोड़ा में एक व्यक्ति संक्रमित मिला है। बता दें, अभी तक प्रदेश में 11302 लोग कोरोना संक्रमित हो चुके हैं। जिनमें से अब तक 7014 (62.12 फीसद) लोग ठीक हो चुके हैं। फिलवक्त 4092 एक्टिव केस हैं। वहीं कोरोना पॉजिटिव 42 मरीज राज्य से बाहर जा चुके है।

सात और मरीजों की मौत

प्रदेश में संक्रमितों की संख्या के साथ ही मौत का बढ़ता आंकड़ा भी चिंता का सबब बना हुआ है। अब तक राज्य में कोरोना संक्रमित 154 मरीजों की मौत हो चुकी है। गुरुवार को भी एम्स ऋषिकेश में पांच संक्रमित मरीजों की मौत हुई। इनमें हरिद्वार निवासी 74 वर्षीय महिला नौ अगस्त को अस्पताल में भर्ती हुई थी। उसे सांस लेने में तकलीफ व हाइपरटेंशन की शिकायत थी।

इसके अलावा देहरादून के कांवली निवासी 78 वर्षीय व्यक्ति को 12 अगस्त को डायबिटीज, हाइपरटेंशन व सांस लेने में तकलीफ की शिकायत पर दून अस्पताल से एम्स रेफर किया गया था। उन्हें आइसीयू में रखा गया था। बुधवार देर शाम उनकी मौत हो गई। तीसरा मामला जसपुर, ऊधमसिंह नगर का है। 60 वर्षीय एक व्यक्ति बुखार, खांसी, सांस लेने में तकलीफ, डायबिटीज के साथ ही हाइपरटेंशन से ग्रसित थे। दस अगस्त को वह ऋषिकेश आए थे। कोरोना की पुष्टि होने पर उन्हें कोविड आइसीयू में भर्ती किया गया था। वहीं बहादराबाद, हरिद्वार निवासी 26 वर्षीय महिला अस्थमा की मरीज थी। सांस लेने में तकलीफ, खांसी व बुखार की शिकायत पर उन्हें मंगलवार को एम्स में भर्ती किया गया था। इसके अलावा ज्वालापुर, हरिद्वार के आर्यनगर निवासी 72 वर्षीय व्यक्ति की भी गुरुवार को मौत हो गई है। वह भी डायबिटीज व हाइपरटेंशन से ग्रसित थे। उन्हें हरिद्वार के एक निजी अस्पताल से रेफर किया गया था। इसके अलावा हल्द्वानी के डॉ. सुशीला तिवारी राजकीय चिकित्सालय में भी 32 वर्षीय एक महिला व 48 वर्षीय एक व्यक्ति की मौत हुई है।

प्रदेश में 327 मरीज हुए स्वस्थ

प्रदेश में गुरुवार को भी 327 मरीज स्वस्थ हुए। इनमें सबसे ज्यादा 216 मरीज ऊधमसिंह नगर जिले में डिस्चार्ज हुए हैं। इसके अलावा हरिद्वार में 46, देहरादून में 31, नैनीताल में 15, चमोली में दस, पौड़ी में सात व अल्मोड़ा में 2 मरीज ठीक होकर घर लौट आए हैं।

रुड़की जेल में तीन बंदी संक्रमित

उप कारागार रुड़की में भी कोरोना ने दस्तक दे दी है। एक साथ तीन बंदियों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। तीनों को जेल में ही एक अलग कमरे में क्वारंटाइन किया गया है। जेल में सैनिटाइजेशन भी कराया जा रहा है। सिविल अस्पताल के मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. संजय कंसल ने बताया कि जेल में कई बंदियों की जांच हो चुकी है। जांच के बाद बंदियों को अलग-अलग रखा था। जेल स्टाफ और अन्य बंदियों की भी कोविड-19 की जांच कराई जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *