UP लखनऊ में चार केस पॉजिटिव, इनमें तीन नोएडा के

चीन से फैले जानलेवा कोरोना वायरस के संक्रमण का कहर समूचे विश्व को अपनी जद में ले चुका है। भारत में यह स्टेज टू से थ्री की ओर बढ़ने को है। ऐसे में केंद्र के साथ राज्य सरकार ने कमर कर ली है। देश तथा भर में 21 दिन के लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश में कोरोना वायरस संक्रमण के पॉजिटिव की संख्या बढ़ती जा रही है।

लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज से गुरुवार को सैंपल की रिपोर्ट जारी हुई है, उसमें चार केस पॉजिटिव है। इनमें तीन नोएडा के हैं। चौथा शख्स बागपत का है। यह सभी नोएडा तथा बागपत के अस्पताल में भर्ती हैं। इस तरह से अब उत्तर प्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर 43 हो गई है। बुधवार तक 39 थे।

किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज में बुधवार को 97 सैंपल की जांच की गई, जिसमें चार में कोरोना पॉजिटिव की रिपोर्ट है। इनमें नोएडा की 21 वर्षीय युवती, 33 वर्षीय महिला तथा 39 वर्षीय पुरुष हैं। इनमें 21 वर्षीय युवती के माता-पिता भी पॉजिटिव है। कोरोना वायरस से संक्रमित तीन और नए मरीज नोएडा में पाए गए हैं इस तरह नोएडा में अब तक कुल 14 लोगों में कोरोना वायरस पाया गया है। चौथी रिपोर्ट में पॉजिटिव 32 वर्षीय पुरुष बापगत का है। वह कुछ दिन पहले ही दुबई से लौटा है। प्रदेश में अब तक कोरोना वायरस से संक्रमित सर्वाधिक 14 लोग नोएडा में पाए गए हैं। वहीं लखनऊ और आगरा में आठ-आठ, गाजियाबाद-तीन, पीलीभीत व बागपत में दो-दो तथा लखीमपुर खीरी, मुरादाबाद, वाराणसी, कानपुर, जौनपुर और शामली में एक-एक व्यक्ति इस वायरस से संक्रमित पाए जा चुके हैं।

लखनऊ में एसजीपीजीआई लखनऊ के सीनियर रेजिडेंट डॉक्टर सुजीत कुमार ने बताया कि लखनऊ के किंग जार्ज मेडिकल कॉलेज तथा हमारे संस्थान में भर्ती कोरोना वायरस पॉजिटिव सभी की शारीरिक स्थिति ठीक है। हम पिछले छह दिनों से घर नहीं गए हैं। हम अपने कर्तव्य पालन में लगे हैं। हम सभी की अच्छी तरह से देखभाल में लगे हैं। हमारे यहां हमारी टीम में नर्सिंग स्टाफ दिन-रात लगा है।

इससे पहले प्रदेश में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित दो और व्यक्ति मिले। इनमें एक पीलीभीत का जबकि एक बागपत का था। कोरोना वायरस से संक्रमित होने के लक्षण पाए जाने पर बुधवार को प्रदेश के विभिन्न अस्पतालों में 73 मरीजों को भर्ती कराया गया। प्रदेश में अभी तक कोरोना वायरस के 1830 संदिग्ध मरीजों के नमूने जांच के लिए भेजे जा चुके हैं। इनमें से 1707 की रिपोर्ट निगेटिव पाई गई है जबकि 85 लोगों की जांच रिपोर्ट का इंतजार है। कोरोना वायरस से संक्रमित 11 मरीज स्वस्थ होकर घर वापस जा चुके हैं जिनमें सात आगरा, दो गाजियाबाद और एक- एक नोएडा व लखनऊ के हैं । प्रदेश के हवाई अड्डों पर अब तक 26369 यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है। नेपाल से सटे प्रदेश के जिलों में बनाए गए बॉर्डर चेक पोस्टों पर अब तक 1546443 लोगों की स्क्रनिंग की जा चुकी है।

पीलीभीत में मां के बाद बेटा भी पॉजिटिव

पीलीभीत में मक्का से उमरा कर लौटी महिला में पहले ही कोरोना वायरस संक्रमण की पुष्टि हुई थी। अब उनके बेटे में भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। हालांकि परिवार से जुड़े तीन अन्य लोगों की जांच रिपोर्ट निगेटिव आई है।

बागपत में दुबई से लौटा था युवक

बागपत में कोरोना से संक्रमित युवक दुबई से लौटा था। वह 19 मार्च को वापस आया था और खुद को घर पर ही आइसोलेट कर लिया था। तबीयत ज्यादा खराब होने पर युवक खुद ही मंगलवार सुबह जिला अस्पताल पहुंच गया था। मेरठ सीएमओ डा. राजकुमार ने बताया कि युवक की कोरोना की जांच रिपोर्ट स्क्रीनिंग में पॉजिटिव आई है।

आइडीएच कानपुर से भागे तीन कोरोना संदिग्ध युवक

कानपुर में कोरोना वायरस पॉजिटिव का संदेह होने पर हैलट के संक्रामक रोग अस्पताल (आइडीएच) में भर्ती तीन युवक भाग गए। इसकी जानकारी होते ही खलबली मच गई। सीएमओ ने पुलिस को इसकी सूचना दी। तीन में से दो युवकों के नमूने जांच के लिए लखनऊ भेजे गए हैं, जबकि तीसरे दिन युवक को बुखार होने पर संदिग्ध मानकर आइडीएच भेजा गया था। दक्षिण अफ्रीका से लौटे कल्याणपुर के शिव विहार निवासी कटियार के 29 वर्षीय पुत्र को आइडीएच में मंगलवार की दोपहर भर्ती कराया गया था। इसके अलावा महाराजपुर थाना के सरसौल निवासी शुक्ल का 30 वर्षीय पुत्र भी यहां मंगलवार को भर्ती कराया गया। इसकी केस हिस्ट्री में कोरोना संक्रमित व्यक्ति के साथ रहने का जिक्र है। बेहद संवेदनशील मानते हुए देर रात दोनों युवकों का नमूना लेकर केजीएमयू लखनऊ भेजा गया। बुधवार सुबह दोनों युवक अस्पताल से भाग गए।

सुबह जब सीएमएस डॉ. अनूप शुक्ला ने आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण किया तो दोनों के भागने की जानकारी हुई। उन्होंने हैलट पुलिस चौकी को सूचना दी। इसके अलावा बुधवार को औरैया से दिखाने आए योगेंद्र सिंह सेंगर को जुकाम और बुखार होने पर कोरोना का संदिग्ध मानते हुए आइडीएच भेजा गया था, जहां से वह भी भाग गया। वहीं सीएमओ डॉ. अशोक शुक्ला का कहना है कि युवकों के भागने की सूचना पुलिस और प्रशासन को दे दी गई है। यदि पुलिस-प्रशासन युवकों को नहीं पकड़ पाता है तो उनके खिलाफ गुरुवार को मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। वहीं, स्वरूप नगर के थाना प्रभारी अश्विनी कुमार पांडेय का कहना है कि तीनों युवकों के भागने की जानकारी मिली है। संबंधित थाना क्षेत्रों को उनके भागने की सूचना दे दी गई है। युवक अभी तक पकड़े नहीं गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *