दून स्कूल के चार छात्रों ने एक सप्ताह में फतह किया बाली पास

देहरादून : दून स्कूल के चार छात्रों ने अप्रैल के पहले सप्ताह में यमुनोत्री का बाली पास फतह किया। छात्रों को यह यात्रा पूरी करने में एक सप्ताह लगे। दून स्कूल के पूर्व छात्र और हिमालयन माउंटेनियरिंग इंस्टीट्यूट, दार्जीलिंग के पहले प्रधानाचार्य रहे मेजर नरेंद्रधर जयाल की 60वीं पुण्यतिथि पर यह आयोजन किया गया था।

कक्षा 12वीं के छात्र स्टेंजिन नमग्याल, समरवीर सिंह मुंडी, शिवेंद्र प्रताप सिंह और रणविजय सिंह ने कुशलपूर्वक बाली पास फतह किया। दून स्कूल के निदेशक पब्लिक रिलेशंस पीयूष मालवीय ने बताया कि 4950 मीटर की ऊंचाई पर स्थित बाली पास हरकी दून वैली से यमुनोत्री धाम को जोड़ता है।

उन्होंने बताया कि अप्रैल के पहले सप्ताह में छात्रों ने बेस कैंप से चढ़ाई शुरू की थी और आठ अप्रैल को छात्र वापस लौट आया थे। पीयूष के अनुसार बाली पास में इन दिनों बर्फीली हवाएं, तूफान और बारिश का जोर रहता है, जिस कारण इस ट्रैक पर चढ़ाई करना कठिन माना जाता है। लेकिन, स्कूली छात्रों ने बेहद कम समय में विपरीत परिस्थितियों के बावजूद चोटी फतह की।

उन्होंने बताया कि इससे पहले भी दून स्कूल के कई छात्र बांदरपूंछ पर्वत पर चढ़ाई कर चुके हैं। मेजर जयाल को श्रद्धांजलि देने के उद्देश्य से ही यह टूर किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *