दिल्ली समेत इन राज्यों में अगले दो दिन हो सकती है भारी बारिश

मौसम विभाग ने सोमवार को कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में कुछ स्थानों पर अगले दो दिन में भारी बारिश हो सकती है। इसमें कहा गया कि दिल्ली के शेष इलाकों तथा आसपास के क्षेत्रों में मध्यम बारिश का अनुमान है। मौसम विभाग के अनुसार 21, 22 और 24 जुलाई के लिए ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इस दौरान राजधानी में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। इसके अलावा कुछ क्षेत्रों में तेज बारिश की भी संभावना भी जताई गई है।

वहीं जम्मू-कश्मीर में अनेक स्थानों पर हल्की वर्षा व हिमाचल प्रदेश में अनेक स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा संभव है। दिल्ली, हरियाणा, पंजाब व उत्तरी राजस्थान में अनेक स्थानों पर मध्यम वर्षा तथा एक-दो स्थानों पर भारी वर्षा होगी। शेष राजस्थान में कुछ स्थानों पर हल्की वर्षा होगी।

मौसम विभाग ने अगले 2 घंटों के दौरान कैथल, करनाल, हिसार, जींद, नरवाना, पानीपत, कुरुक्षेत्र, शामली, मुजफ्फरनगर, बिजनौर, मुरादाबाद के आसपास के क्षेत्रों में 20-40 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा की गति के साथ आंधी -बारिश की संभावना जताई है।

अगले दो दिन झमाझम बारिश

मौसम के पूर्वानुमान में कहा गया है कि दिल्ली, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, उत्तर प्रदेश में अगले दो दिन में बारिश हो सकती है तथा कुछ-कुछ स्थानों पर भारी और बहुत भारी बारिश भी हो सकती है। इसके बाद बारिश में कमी आएगी।

दिल्ली वालों को मिलेगी गर्मी से राहत, चलेंगी तेज हवाएं

मौसम विज्ञानियों ने कहा कि उत्तर पश्चिमी भारत पर अगले दो से तीन दिन में बंगाल की खाड़ी से आने वाली आर्द्र पूर्वी हवाओं और अरब सागर से आने वाली दक्षिणपश्चिमी हवाओं का मेल होता रहेगा। इस बीच यहां मानसून भी आया हुआ है। इन दो कारकों से अगले 24 घंटे में दिल्ली-एनसीआर में मध्यम से भारी बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग ने सोमवार रात तक मध्यम बारिश होने और 40 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने का अनुमान जताया है। सोमवार को दिन में राष्ट्रीय राजधानी में छिटपुट बारिश होती रही। सफदरजंग वेधशाला में अधिकतम तापमान सामान्य से दो डिग्री कम 32.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। रविवार को दिल्ली में मानसून की पहली मूसलाधार बारिश में चार लोगों की मौत हो गई थी।

बिहार में बारिश से नदियां उफनाईं, सात की मौत

उत्तर बिहार में रविवार देर रात और सोमवार को जमकर बारिश हुई। नदियों में उफान से नए इलाकों में बाढ़ का कहर शुरू हो गया है। जगह-जगह सड़कों पर पानी बह रहा है। इस दौरान अलग-अलग घटनाओं में प्रदेश में सात लोगों की मौत हो गई। पश्चिमी चंपारण के सिकटा में त्रिवेणी नहर का उत्तरी तटबंध टूट गया वहीं, मधुबनी के बाबूबरही में सोनी नदी पर बना चचरी (बांस से बना) पुल बह गया। छह से अधिक कच्चे घर गिर पड़े। जिले में नदियों में डूबने से पांच लोगों की मौत हो गई जबकि घर गिरने से दो लोगों की जान चली गई और दो अन्य जख्मी हो गए। इधर, नरकटियागंज में रेलवे ट्रैक पर पानी चढ़ गया है। चंपारण तटबंध व पीडी रिंग बांध से भी रिसाव हो रहा है। पूर्वी चंपारण के निचले क्षेत्रों में बाढ़ का पानी फैलने लगा है। समस्तीपुर के बिथान, कल्याणपुर और समस्तीपुर शहर के निचले क्षेत्र में पानी प्रवेश कर गया है। प्रशासन ने सीतामढ़ी में रेड अलर्ट जारी किया गया है। शिवहर के निचले क्षेत्रों में भी पानी फैल रहा है। दरभंगा और मुजफ्फरपुर के बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में भी स्थिति गंभीर है।

छह जिलों में बाढ़ की आशंका, मुख्यमंत्री ने किया अलर्ट

नेपाल व गंडक नदी के जलग्रहण क्षेत्र में हो रही भारी बारिश से गंडक नदी के डिस्चार्ज में भारी बढ़ोतरी की संभावना है। इस वजह से पश्चिमी चंपारण, पूर्वी चंपारण, गोपालगंज, मुजफ्फरपुर, वैशाली एवं सारण जिले में बाढ़ की स्थिति उत्पन्न हो सकती है। इसे लेकर मुख्यमंत्री ने आपदा प्रबंधन विभाग एवं सभी जिलाधिकारियों को पूरी तरह से अलर्ट रहने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री ने कहा है कि गंडक नदी के डिस्चार्ज वाले क्षेत्रों के निचले इलाके में रहने वाले लोगों को वहां से निकालकर ऊंचे एवं सुरिक्षत स्थानों पर पहुंचाया जाए। प्रशासन बचाव कार्य के लिए पूरी तरह तैयार रहें।

पंजाब में तीसरे दिन भी कई जिलों भारी बारिश

पंजाब में तीन दिन से लगातार लगातार बारिश हो रही है। सोमवार को भी कई जिलों में तेज बारिश हुई। मौसम विभाग चंडीगढ़ के अनुसार बारिश ने फिरोजपुर को पानी पानी कर दिया। यहां कुछ ही घंटे में 56 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की। ब¨ठडा में भी 39.8, कपूरथला में 27.5 व अमृतसर में 12.8 मिलीमीटर बारिश हुई। वहीं चंडीगढ़ में एक, लुधियाना में आठ, पठानकोट में 8.8 व पटियाला में 0.6 मिलीमीटर बारिश रिकॉर्ड की गई। यहीं नहीं, जिन जिन जिलों में बारिश हुई, वहां दिन के तापमान में भी गिरावट दर्ज की गई। दिन का तापमान सामान्य से दो से चार डिग्री सेल्सियस कम रहा। मौसम विभाग के पूर्वानुमान की मानें तो पंजाब में 24 जुलाई तक बादल छाए रह सकते हैं और बारिश की संभावना है। आगामी चार दिन तक तेज हवाएं भी चल सकती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *